Skip to main content

आदिवासी मजदूर ने मांगी मजदूरी तो मिली..?

Posted on October 7, 2022 - 12:29 pm by

नेहा बेदिया

एक 43 वर्षिय प्रवासी आदिवासी मजदूर ने उत्तर प्रदेश में एक मजदूर ठेकेदार से अपनो हक की मजदूरी मांगी तो दलालों ने उसके हाथ और पैर काट दिए। इसके बाद उसके परिवार वालों को घायल व्यक्ति को सौंपते हुए पुलिस से शिकायत नहीं करने की धमकी दी। इस घटना के बारें में तब पता चला जब आदिवासी मजदूर अपने घर पहुंचा। यह मामला ओडिशा गजपति जिले के कलाबा गांव निवासी संका मुर्मू की है। जिसने पिछले महीने उत्तर प्रदेश में एक सीमेंट के कारखाने में काम किया था।

मजदूरी के बदले अपंगता मिली

पीड़ित संका मुर्मू ने बताया कि 13 सितंबर को हम में से छह लोग कटक गए थे, जब बर्धन नाम के एक व्यक्ति ने हमें दिल्ली में काम दिलाने का वादा किया था। लेकिन एक पड़ोसी गांव के पांच युवकों ने हमें उत्तर प्रदेश में एक सीमेंट कारखाने में काम करने के लिए 20 हज़ार रुपये प्रति माह का वादा किया। उसके बाद हम उनके साथ काम करने चले गए।” उन्होंने बयान पूरी करते हुए आगे कहा ,“जब हमने अपनी मजदूरी मांगी तो उन्होंने हमें दो पाउच (स्थानीय शराब के) दिए। शराब पीने के बाद मैं बेहोश हो गया। जब मैं उठा तो मैंने पाया कि मेरा एक पैर और एक हथेली कटी हुई है।”

संका मुर्मू की पत्नी सुशीला ने बताया कि 30 सितंबर को कुछ युवक उनके घर आकर घायल अवस्था में उसके पति को फेंक कर धमकाया कि अगर इसकी सूचना पुलिस को मिली तो बहुत गंभीर परिणाम होंगे। इसके बाद मोहना के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में सोमवार को उसकी भर्ती कराई गई है।

इस घटना ने ओडिशा के प्रवासी मजदूरों की दुर्दशा पर ध्यान वापस ला दिया है जिनका अन्य राज्यों में शोषण जारी है। वह एक अस्पताल में केवल यह महसूस करने के लिए उठा कि उसकी दाहिनी हथेली और बायां टखना कटा हुआ है। बर्धन कथित तौर पर 1 अक्टूबर को सांका को कलाबा वापस ले आया। ठेकेदार ने संका और उसके परिवार को धमकी दी कि अगर उन्होंने मामले की पुलिस को सूचित किया तो उन्हें गंभीर परिणाम भुगतने होंगे।

उसकी पत्नी सुशीला सदमे में है और इस तथ्य के साथ नहीं आ सकती है कि उसका पति जो काम के लिए घर छोड़ गया था, वह अपंग अवस्था में लौट आया है। “मैं बीमार हूँ और अपने बच्चों को खिलाने की स्थिति में नहीं हूँ। मैं अपने पति के साथ कैसा व्यवहार करूँगी।

जिला श्रम अधिकारी को राज्य श्रम आयुक्त तिरुमाला नाइक द्वारा निर्देश दिया गया कि इस घटना की पूर्ण जांच की जाए। उन्होंने हर संभव इसपर कारवाई करने और पीड़ित मुर्मू के परिवार को हर संभव मदद मुहैया कराने का आश्वाशन दिया है।

No Comments yet!

Your Email address will not be published.