Skip to main content

शौचालय की कमी के कारण एक आदिवासी युवक को हाथी ने कुचल कर मारा

Posted on September 30, 2022 - 8:05 am by

कर्नाटक के कोडगु जिले में गुरूवार 29 सितंबर को हाथी ने एक 24 वर्षीय लड़के को कुचल कर मार डाला। यह घटना दूबारे(Dubare) आदिवासी बस्ती के सामने के जंगल की है।

मृतक का नाम बसाप्पा (Basappa) बताया जा रहा है, जो कि जेनु कुरूबा आदिवासी समुदाय से संबंध रखता है। जेनु कुरूबा समुदाय कमजोर आदिवासी समूह(PVTGs) समूहों में से एक है। मृतक के परिवार के अनुसार वह दिहाड़ी मजदूरी करता था।

क्या है पूरा मामला

सुबह के समय में एक पालतू हाथी को जंगल में चरने के लिए छोड़ दिया गया था, 8 बजे के आसपास बसप्पा शौच के लिए जंगल गया था, उस समय पालतु हाथी ने बसप्पा को देखकर उसका का पीछा किया, भागने के क्रम में बसप्पा गिर पड़ा और फिर क्रोधित हाथी ने बसप्पा को कुचल गिया। बुरी तरह से घायल बसप्पा को सिद्दपुरा स्थित स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इस मामले में बसप्पा की पत्नी ने थाने में केस दर्ज करा दिया है। मृतक के आश्रितों में उसकी पत्नी, मां, पांच साल की बेटी और चार माह की बच्ची शामिल है। वन अधिकारियों ने कुल 7.5 लाख मुआवजे की राशि में से 2 लाख पीड़ित परिवार को दे चुके है।

वन अधिकारियों के अनुसार महावत के बिना हाथी विरोधी तथा अनजान लोगों पर हमला करता है, दरअसल बसप्पा के साथ सुबह में यही घटना हुई जब हाथी बिना महावत के था।

घर में शौचालय होती तो जान बच सकती थी

स्थानीय लोगों का कहना है कि अगर बसप्पा को शौच के जंगल नहीं जाना पड़ता तो उसकी जान बच सकती थी। हैरानी की बात यह है कि सिद्दपुरा ग्राम पंचायत को जिसमें दूबारे गांव भी शामिल है, को शौचालय मुक्त गांव के लिए गांधी ग्राम पुरस्कार मिल चुकी है।

No Comments yet!

Your Email address will not be published.