Skip to main content

आंध्रप्रदेश: नवजात के साथ महिला को डोली में अस्पताल ले जाया गया, बच्चे की मौत

Posted on February 23, 2023 - 10:57 am by

ऐसा लगता है कि आदिवासियों के कष्टों का कोई अंत नहीं है. क्योंकि आंध्रप्रदेश में अल्लुरी सीताराम राजू जिले में हर दूसरे दिन गर्भवती महिलाओं और बीमार लोगों को डोली में अस्पताल ले जाने की घटनाएं सामने आती रही हैं.

मंगलवार को ही एक 20 वर्षीय महिला को उसके पैदा हुए बच्चे के साथ एक डोली में रोलुगुंटा मंडल के पेड़ागारुवु हिलटॉप गांव से अरला तक ले जाया गया. जहां से उन्हें एक ऑटो में बुचिमपेटा के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में स्थानांतरित कर दिया गया.

हालांकि, इस तरह की स्थिति के बाद बुधवार को अस्पताल में नवजात बच्चे मौत हो गई. आदिवासियों का कहना है कि अगर गांव में तत्काल इलाज कराया जाता तो नवजात को बचाया जा सकता था. इसके अलावा मां को प्रसव के बाद घंटों के भीतर 3 किमी तक पहाड़ी इलाके में एक डोली में यात्रा करने की कठिनाई से गुजरना पड़ता था.

जब आदिवासियों ने सहायता के लिए सरकारी चिकित्सा अधिकारी से संपर्क किया तो उन्होंने एक निजी ऑटो अरलिया भेजा, जिसमें मां और नवजात को पीएचसी में शिफ्ट कर दिया गया. उन्होंने कहा कि हाल ही में उन्होंने अपनी समस्याओं को कलेक्टर के संज्ञान में लाने के लिए कलेक्ट्रेट पर डोलियों के साथ प्रदर्शन किया. पेडागरुवु ग्राम प्रधान किलो नरसैय्या ने कहा कि उन्होंने 2020 में पेडागरुवु से अरला तक श्रमदान के साथ 3 किमी की सड़क बनाई.

हालांकि, भारी बारिश के कारण सड़क बह गई. उन्होंने कहा कि गांव में कोई सामुदायिक स्वास्थ्य कार्यकर्ता नहीं है और कोई आंगनबाडी केंद्र भी नहीं है. अगर पहाड़ी गांवों तक सड़कें नहीं बनाई गईं तो वे अगले चुनाव का बहिष्कार करेंगे. पांचवीं अनुसूची साधना समिति के मानद अध्यक्ष के गोविंद राव ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि अधिकारी गांवों में सुविधाएं मुहैया कराने पर ध्यान नहीं दे रहे हैं.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.