Skip to main content

असम:शांति समझौते के बाद 46 आदिवासी विद्रोहियों ने आत्मसमर्पण किया

Posted on January 23, 2023 - 11:09 am by

असम के सोनितपुर जिले में आदिवासी विद्रोही समूह ऑल आदिवासी नेशनल लिबरेशन आर्मी (AANLA) के 46 सदस्यों ने 22 जनवरी को आत्मसमर्पण किया.

वर्ष 2006 में गठित AANLA असम में बागान श्रमिकों की आदिवासी संस्कृति के अधिकारों की रक्षा के लिए लड़ने का दावा करती है. यह समूह असम के उन आठ आदिवासी विद्रोही संगठनों में शामिल है, जिन्होंने पिछले साल सितंबर में सरकार के साथ शांति समझौते पर हस्ताक्षर किए थे.

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा की मौजूदगी में 15 सितंबर को नई दिल्ली में समझौते पर हस्ताक्षर करने से महीनों पहले संगठन के 13 सदस्यों ने कार्बी आंगलोंग के सामने आत्मसमर्पण कर दिया था.

पूर्व उग्रवादियों ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (अपराध) और पुलिस उपाधीक्षक (सीमा) सहित वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की उपस्थिति में रविवार को ढेकियाजुली में एक समारोह में आठ पिस्तौल, छह राइफल और गोला-बारूद जमा किए.

आंला के पूर्व अध्यक्ष डी नायक ने कहा कि उन्होंने इस विश्वास के साथ आत्मसमर्पण किया कि सरकार चाय बागानों में आदिवासियों के अधिकारों की रक्षा करेगी. साल 2022 में हस्ताक्षरित शांति समझौते के अनुरूप उनका विकास सुनिश्चित करेगी.

डी नायक का कहना है कि “हमारे सशस्त्र संघर्ष का उद्देश्य आदिवासी लोगों के अधिकारों को पूरा करना है. हमने कई वर्षों की बातचीत के बाद शांति समझौते पर हस्ताक्षर किए. हम मुख्यधारा में लौटने का लक्ष्य बना रहे हैं और आज का शस्त्र समर्पण इसके करीब एक कदम है.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.