Skip to main content

बिहार:  रोलर से कुचलकर आदिवासी युवक की मौत, प्रदर्शन

Posted on November 28, 2022 - 4:51 pm by

बिहार में किशनगंज जिले के एक आदिवासी युवक की रोलर से कुचलकर मौत हो गयी. मृतक का नाम कुर्लीकोट थाना क्षेत्र में घटित इस घटना में ग्रामीणों का गुस्सा तब चरम पर पहुंच गया. जब मृतक के परिजनों को विश्वास में लिए बिना शव को पोस्टमार्टम के लिए किशनगंज सदर अस्पताल भेज दिया.

कंपनी के रोलर से कुचलकर मौत

अररिया- गलगलिया मुख्य सड़क मार्ग चल रहे जीआर इंफ्रा कंपनी के रोलर से शनिवार रात मनोज किस्कु की कुचलने से मौत हो गयी. मृतक मनोज किस्कू उम्र लगभग 22 वर्ष थी. वह साकिन बीरटोला सखुआडाली निवासी था. जो जीआर इंफ्रा प्रोजेक्ट लिमिटेड कंपनी में गार्ड के पद पर कार्यरत था.

तीर कमान लेकर उतरे प्रदर्शनकारी

कई आदिवासी ने घटना स्थल पर पहुंचकर जीआर इंफ्रा प्रोजेक्ट में प्रदर्शन किया. घटना से आक्रोशित प्रदर्शनकारियों ने कैंप के अंदर हंगामा किया जिसमें कई वाहनों को मामूली क्षति पहुंचायी. इसके बाद प्रदर्शनकारियों ने कैंप के सामने और जलेबिया मोड़ पर एनएच 327 इ को जाम कर दिया था.

हत्या की आशंका

शनिवार रात लोधाबाड़ी के पास कैंप में रोलर की चपेट में आने से वह गंभीर रूप से घायल हो गया. वहां मौजूद लोगों के द्वारा घायल मनोज किस्कों को अस्पताल पहुंचाने के क्रम उसकी मौत हो गई. जिसकी सूचना मृतक के परिजनों को नहीं दी गई. और पोस्टमार्टम के लिए शव को किशनगंज भेज दिया गया. यही बात परिजनों के बीच असंतोष का कारण बना. इस घटना को लेकर हत्या की आशंका जाहिर की गई. इसी को लेकर हंगामा किया गया.

स्थानीय न्यूज के अनुसार वहीं मृतक के परिजनों ने मनोज किस्कू की हत्या कर फेंक देने और कंपनी के अधिकारियों पर घटना की सूचना न देने और साक्ष्य छुपाने का गंभीर आरोप लगाया है.

मनोज के भाई संतोष किस्कू का कहना है कि रात 11 बजे मर्डर हुआ, लेकिन हमें सूचित नहीं किया गया. अपने आप लाश लेकर आया और पोस्टमार्टम के लिए ले गया और परिजनों को बताया तक नहीं.

रविवार को घटना को लेकर आदिवासियों के प्रदर्शन के बाद वहां सर्किल इंस्पेक्टर के नेतृत्व में ठाकुरगंज सर्किल के सात थानों की पुलिस घटना स्थल पर पहुंची. मृतक के परिजनों को आर्थिक सहायता, पीड़ित परिवार के घर से एक सदस्य को नौकरी देने का आश्वासन दी गई.

स्थानीय परियोजना प्रबंधक ने इसे अनजाने में हुई घटना बताया

जीआर इंफ्रा के स्थानीय परियोजना प्रबंधक राम गोपाल राणा ने बताया कि मनोज किस्कू शनिवार को नाइट ड्यूटी पर मनोज किस्कू तैनात था. वह खाना खाकर रोलर के नीचे ही सो गया. कुछ देर बाद बाद रोलर चालक को अंधेरे में कुछ दिखा नहीं और उसने रोलर स्टार्ट कर दिया और घटना घट गयी. लेकिन घटना के बाद मनोज किस्कू की सांसें चलता देख वहां मौजूद लोगों ने एंबुलेंस से तुरंत उसे जिला हॉस्पिटल भेजा गया. इसकी सूचना पुलिस को दी गयी. लेकिन रास्ते में ही उसकी मृत्यु हो गयी.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.