Skip to main content

आदिवासी वोट बैंक बढ़ाने के लिए बीजेपी करा रही है कुंभ का आयोजन

Posted on January 27, 2023 - 2:40 pm by

महाराष्ट्र के जलगांव के गोदरी में 25 जनवरी से 30 जनवरी तक आदिवासियों का बंजारा महाकुंभ का आयोजन किया जा रहा है. राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) द्वारा इस कुंभ के आयोजन से संभावना जताई जा रही है कि बीजेपी का आदिवासी वोट बैंक बढ़ेगा. वर्ष 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव में बंजारा महाकुंभ के आयोजन का सीधा असर पड़ सकता है.

धर्मांतरण के बहाने आदिवासियों के बीच पहुंच रही है बीजेपी 

हालांकि संघ के पदाधिकारी का कहना है कि कुंभ का आयोजन मिशनरियों द्वारा बंजारा समुदाय के सदस्यों के धर्मांतरण के मामलों में वृद्धि के खिलाफ जागरूकता बढ़ाने के लिए किया गया है. उनका कहना है कि पिछले कई वर्षों से ईसाई मिशनरी बंजारा समुदाय के सदस्यों को गुमराह करके उनका धर्म परिवर्तित कर रहे हैं.

संघ पदाधिकारी के अनुसार असामाजिक ताकतें भी लगातार बंजारा समुदाय के इतिहास, संस्कृति, धर्म और परंपराओं के बारे में झूठ फैलाने की कोशिश कर रही हैं. यह महाकुंभ उन्हें रोकने और यह सुनिश्चित करने के लिए है कि आदिवासी और बंजारा लोग हिंदू समाज का अभिन्न अंग बन रहे.

कुंभ में इन राज्यों के आदिवासी जुटेंगे

बता दें कि छह दिवसीय महाकुंभ गोदरी गांव के 500 एकड़ भूमि पर आयोजित किया गया है. संघ के एक पदाधिकारी का दावा है कि इस कुंभ में 10 लाख से ज्यादा बंजारा समुदाय के लोगों के शामिल होने की उम्मीद है. तेलंगाना, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, मध्य प्रदेश, गुजरात, छत्तीसगढ़, गोवा और महाराष्ट्र से बंजारा, लबाना और नायकड़ा समुदाय के लोग महाकुंभ में जुटेंगे.

बंजारा समाज में गोद्री का बड़ा पवित्र स्थान जहां इस समाज के प्रमुख संत रहे बाबा घोंडीराम महाराज का समाधि स्थल है. कुंभ स्थल पर करीब 50 हजार लोगों को रुकने की व्यवस्था है, जिसमें करीब 5 हजार बंजारा समाज की महिलाओं को भी रुकने की व्यवस्था है. बताया जा रहा है कि करीब 500 से ज्यादा बंजारा समाज के साधु संत यहां रुकेंगे.

इस कार्यक्रम में आरएसएस के वरिष्ठ सदस्य सुरेश ‘भैयाजी’ जोशी, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उनके डिप्टी देवेंद्र फडणवीस शामिल होंगे.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.