Skip to main content

छत्तीसगढ़: बात करने से मना की, घर घुसकर आदिवासी युवती के शरीर पर 51 बार गोदा पेचकस

Posted on December 26, 2022 - 6:04 pm by

छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले से दिल दहलाने वाला मामला सामने आया है. फोन पर बात नहीं करने पर गुजरात से आकर एक शाहबाज खान नाम के युवक ने घर घुसकर युवती की पेचकस से गोदा बेरहमी से हत्या कर दी है. मृतका का नाम नीलकुसुम बताया जा रहा है. जिस समय शाहबाज ने वारदात को अंजाम दिया, उस समय युवती घर पर अकेली थी. पुलिस की आरोपी युवक की खोज कर रही है.

दरअसल, कोरबा  जिले के साउथ ईस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (एसईसीएल) की पंप हाउस कालोनी में 24 दिसंबर को दिनदहाड़े 21 साल की युवती नीलकुसुम को पेचकस से 51 जगह गोदा गया. लाश के मुंह पर तकिया रखा हुआ था, उसकी चीख कोई और न सुन सके इसलिए आरोपी शाहबाज ने ऐसा किया.

मिला फ्लाइट का टिकट

घटनास्थल से फ्लाइट की दो दिन पुरानी गुजरात की टिकट मिली है, जो शहबाज खान नाम से हैं. इस मामले में नीलकुसुम के परिजनों ने बताया कि शाहबाज तीन साल पहले जशपुर से कोरबा के बीच चलने वाली यात्री बस का कंडक्टर था. नीलकुसुम उससे बात नहीं करना चाहती थी, इसलिए वह नाराज था. पुलिस को कॉल डिटेल से भी कुछ ज्यादा जानकारी नहीं मिल सकी.

ज्यादा खून बहने से हुई नीलकुसुम की मौत

आरोपी व्हाट्सएप कॉल के जरिए भी बात किया करता था. पोस्टमार्टम रिपोर्ट अनुसार, पेचकस के वार से हुए घाव के बाद अधिक खून बहने से नीलकुसुम की मौत हुई. उसके सीने पर पेचकस से 34 बार, पीठ की ओर 16 बार और बगल में एक बार वार किया गया था. हृदय के पास वाला जख्म ज्यादा गहरा था. शाहबाज को ढूंढने पुलिस की अलग-अलग चार टीम का गठन किया गया है.

घर पर अकेली थी नीलकुसुम

घटना के समय नीलकुसुम की मां फूलजेना डीएवी स्कूल में काम करने गई थीं. उसका भाई नीलेश मां को स्कूल छोड़ने के बाद दादरखुर्द परिजन के पास चला गया था. नीलकुसुम घर पर अकेली थी. दोपहर करीब 12.30 बजे नीलेश घर लौटा और दरवाजा खटखटाया तो अंदर से कोई आवाज नहीं आई. इस पर वह घर के पीछे वाले हिस्से से भीतर पहुंचा तो देखा कि कमरे में जमीन पर नीलकुसुम की लाश पड़ी है. आसपास काफी मात्रा में खून फैला हुआ था. इसके बाद घटना की सूचना पुलिस को दी गई थी. वर्तमान में पुलिस आरोपी की तेजी से तलाश में जुट गई है.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.