Skip to main content

Election 2023: त्रिपुरा-नगालैंड-मेघालय में बजा चुनावी बिगुल

Posted on January 18, 2023 - 4:24 pm by

पूर्वोत्तर के तीन राज्यों त्रिपुरा, मेघालय और नगालैंड के विधानसभा चुनावों का एलान हो गया है. मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने बताया कि त्रिपुरा में 16 फरवरी और मेघालय-नगालैंड में 27 फरवरी को मतदान होगा. तीनों ही राज्यों में चुनाव के नतीजों की घोषणा दो मार्च को होगी. तीनों ही राज्यों में 60-60 सदस्यीय विधानसभा है. त्रिपुरा में 16 फरवरी, मेघालय और नगालैंड में 27 फरवरी को मतदान होगा. वहीं, तीनों राज्यों में दो मार्च को नतीजों की घोषणा होगी.

बता दें कि नगालैंड विधानसभा का कार्यकाल 12 मार्च, मेघालय विधानसभा का 15 मार्च और  त्रिपुरा विधानसभा का कार्यकाल 22 मार्च को समाप्त हो रहा है. त्रिपुरा में इस वक्त भाजपा की सरकार है. वहीं, नगालैंड में एनडीपीपी के नेफ्यू रियो मुख्यमंत्री हैं. मेघालय में एनपीपी के कोनराड संगमा की सरकार है. दोनों राज्यों में भाजपा सत्ताधारी गठबंधन का हिस्सा है.

भारत-म्यांमार की सीमा पर भी होगा मतदान केंद्र

ऐसा मतदान केंद्र जो भारत-म्यांमार सीमा पर मौजूद है. गांव प्रधान का आधा घर म्यांमार में और आधा भारत में है. इस इलाके में भी मतदान केंद्र होगा.

इन पहचान पत्रों को भी पोलिंग स्टेशन में दिखा सकेंगे

मतदाता पहचान पत्र के अलावा इन 12 पहचान पत्रों को दिखाकर भी वोट कर सकेंगे मतदाता. जिसमें आधार कार्ड, मनरेगा कार्ड, पैन कार्ड, इंडियन पासपोर्ट, ड्राईविंग लाइसेंस, बैंक पासबूक, NPR  स्मार्ट कार्ड, स्वास्थ्य बीमा कार्ड आदि शामिल है.

त्रिपुरा में सबसे ज्यादा महिला मतदाता

तीनों राज्यों में कुल 62.8 लाख मतदाता होंगे. नगालैंड में 13.09 लाख, मेघालय में 21.61 लाख और त्रिपुरा में 28.13 लाख मतदाता होंगे. तीनों राज्यों में कुल 31.47 लाख महिला मतदाता होंगी. इनमें त्रिपुरा में सबसे ज्यादा 13.98 लाख महिला वोटर होंगी. तीनों राज्यों में कुल 1.76 लाख मतदाता ऐसे होंगे, जो पहली बार वोट डालेंगे. मेघालय में सबसे ज्यादा 81,443 मतदाता 18-19 साल के होंगे, जो पहली बार मतदान करेंगे.

मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने कहा कि तीनों चुनावी राज्यों की खास बात यह है कि यहां पर वोट डालने वाली महिला मतदाताओं की संख्या पुरुषों के मुकाबले ज्यादा रहती है. पिछले विधानसभा चुनाव में वोट डालने वाली महिलाओं की संख्या नगालैंड में 86%, मेघालय में 87% और त्रिपुरा में 91% रही है. पिछले चुनावों में हिंसा नहीं हुई है. महज दो-तीन राज्यों में ही अब चुनावों के दौरान हिंसा होती है. लोकतंत्र में हिंसा का कोई स्थान नहीं है. हम इन तीनों राज्यों में भी हिंसा को बर्दाश्त नहीं करेंगे.

2018 में भी 18 जनवरी को ही हुआ था चुनाव तारीखों का एलान

वर्ष 2018 में तीनों राज्यों के विधानसभा चुनाव की तारीखों का एलान 18 जनवरी को हुआ था. तब इन तीन राज्यों के विधानसभा चुनाव दो चरणों में संपन्न हुए थे. पहले चरण में 18 फरवरी को त्रिपुरा में वोटिंग हुई थी. वहीं दूसरे चरण में 27 फरवरी को मेघालय और नगालैंड में वोट पड़े थे. वर्ष 2018 में 3 मार्च को तीनों राज्यों के चुनाव नतीजे आए थे.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.