Skip to main content

राष्ट्रीय खेल के लिए चुनी गई एलिजाबेथ, सरकार से लगा रही है मदद की गुहार

Posted on September 28, 2022 - 10:50 am by

छत्तीसगढ़ के जशपुर की आदिवासी युवती एलिजाबेथ बेक अपनी मेहनत और लगन से राष्ट्रीय खेल 2022 (National games 2022) के लिए सेलेक्ट हो गई है। एलिजाबेथ बेक अपने राज्य छत्तीसगढ़ की बेस्ट साईकिलिस्ट बन चुकी है। और वह अब राष्ट्रीय खेल में अपना हुनर दिखाएंगी।

ANI के अनुसार साइकिलिस्ट एलिजाबेथ ने कहा कि साइकिल उपकरण और पैसे की कमी के कारण प्रशिक्षण में समस्या होती है। क्या मुझे सिर्फ इसलिए खेलने की अनुमति नही है, क्योंकि मैं गरीब हूँ?  राष्ट्रीय खेलों भाग लेने वालों को अन्य राज्यों में राज्य सरकार मदद करती है, लेकिन मैं अपने दम पर जा रही हूँ। हमारे राज्य में ऐसा नही है। हमें अपने पैसे से वहां जाना पड़ता है। मैं वहां जीतने की पूरी कोशिश करूंगी। सरकार से अनुरोध है कि ध्यान दें, हमारी मदद करे।

29 सितंबर से शुरू होगी राष्ट्रीय खेल

इस वर्ष 36वां राष्ट्रीय खेल गुजरात में हो रही है। 29 सितंबर से राष्ट्रीय खेल की शुरूआत होगी और जो कि 12 अक्टूबर तक चलेगा। इस राष्ट्रीय खेल में 36 तरह के खेल होने है और इसमें करीब 7 हजार खिलाड़ी भाग लेंगे। बता दें कि यह राष्ट्रीय खेल गुजरात के 6 शहरो में होगा। इन शहरों में अहमदाबाद, सूरत, वडोदरा, राजकोट, भावनगर और गांधीनगर शामिल है। भारत की प्रतिष्ठित मल्टी-इवेंट स्पोर्टिग की वापसी सात सालों बाद हो रही है यह आखरी बार 2015 में केरल में आयोजित किया गया था।

एलिजाबेथ की मां हाउस हेल्प के रूप में काम करती है, वहीं से साइकिल गिफ्ट में मिली

एलिजाबेथ की मां कहती है कि उसे बेटी के हार्ड वर्क पर गर्व है। वह एक घर में हाउसहेल्प के तौर पर काम करती है। जहां से उसे गिफ्ट में घर के मालिक ने एक साइकिल दी थी। एलिजाबेथ राष्ट्रीय खेल में जाने के लिए उत्साहित है। वह अब गुजरात जा रही है। यहां पहूंचने के लिए उसने बहुत मेहनत की है।

वहीं उसके पिता हिरमल कुमार कहते है कि वह स्वयं अपने दम पर यहां तक पहूंची है। उन्होंने अपनी स्कूल की पढ़ाई पटवारी गांव में मेड के रूप में काम करके पूरी की है। जब वह 12वीं कक्षा में थी तब अंबिकापुर में आगे की पढ़ाई के लिए क्लिनिक में काम करती थी। अब वह राष्ट्रीय स्तर पर खेलने वाली है। हम बहुत खुश है। एलिजाबेथ ने कई पुरस्कार भी जीते है और साइकिलिंग में अपना नाम बनाने में सफल रही है। 2015 में मैनपथ कार्निवल में राष्ट्रीय स्तर साइकिल रेस में सभी पुरूष और महिला प्रतियोगियों को हराकर ट्रॉफी जीती, उसके बाद 2016 में तत्कालीन सरगुजा विधायक टी. एस. सिंहदेव ने उन्हें एक लाख रूपये की पेशेवर साइकिल प्रदान की थी।

एलिजाबेथ आगे कहती है कि 2016 के रमन सिंह सरकार में खेलमंत्री भैयालाल राजवाड़े ने मेरी मदद करने की कोशिश की थी जिसमें मुझे शॉकअप, 15 हजार बड़ी टायर साइकिल, हैवीवेट जूते और 6 फीट की राईडर ड्रेस दी गई, लेकिन ये सभी मेरे किसी काम के नही थे। 

No Comments yet!

Your Email address will not be published.