Skip to main content

गुजरात: आदिवासी दंपति ने अपने नवजात बेटे को फुटपाथ पर क्यों छोड़ा

Posted on January 5, 2023 - 2:00 pm by

गुजरात में सूरत के अदजान इलाके में 20 दिसंबर को एक पुल के फुटपाथ पर आदिवासी परिवार ने अपने तीन महीने के बेटे को छोड़ दिया था. पुलिस ने आदिवासी दंपति को 3 जनवरी की शाम सूरत से गिरफ्तार किया गया.

गरीबी के कारण छोड़ा

पुलिस के अनुसार मेहसाणा के जिग्नेश सेनवा (22) और अरावली की उनकी पत्नी रंजन कटारा (23) ने अपराध स्वीकार कर लिया है. दंपति ने नवजात को छोड़ने के पीछे गरीबी को कारण बताया है. दंपति ने अदजान में केबल-स्टे ब्रिज के फुटपाथ पर 20 दिसंबर को अपने बेटे को छोड़ दिया था.

शिशु को लावारिस पाए जाने के बाद  पुलिस ने अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 317 (माता-पिता या उसकी देखभाल करने वाले व्यक्ति द्वारा 12 साल से कम उम्र के बच्चे का जोखिम और परित्याग) के तहत अपराध दर्ज किया था. इसके बाद उन्होंने सीसीटीवी फुटेज लेने के बाद जांच शुरू की.

मुंबई में कूड़ा बीनने का करते हैं काम

अदजान पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर जेके राठौड़ ने कहा, “आदिवासी दंपति ने हमें बताया कि उनके पास रहने के लिए जगह नहीं है और न ही रहने के लिए पैसे हैं. नवजात लड़के को छोड़ने के बाद वे वलाड के लिए एक ट्रेन ले गए, वहां से दूसरी ट्रेन मुंबई के लिए पकड़ ली. वे मुंबई में कूड़ा बीनने का काम करते थे और 3 जनवरी की सुबह लौट आए.”

(फोटो का प्रयोग प्रतिकात्मक रूप में किया गया है)

No Comments yet!

Your Email address will not be published.