Skip to main content

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में आदिवासी – जेरेमी लालरिनुंगा (Jeremy Lalrinnunga)

Posted on September 28, 2022 - 11:42 am by

जेरेमी लालरिनुंगा एक भारतीय भारोत्तोलक(weightlifter) है, 2018 में वह 62 किग्रा पुरूषवर्ग में युवा ओलंपिक खेलों में स्वर्ण जितने वाले पहले भारतीय बने तथा 2022 के कॉमनवेल्थ गेम्स वह 67 किग्रा में भारत को दूसरे स्वर्ण दिलाने वाले खिलाड़ी बने।

संक्षिप्त परिचय

पूरा नाम – जेरेमी लालरिनुंगा राल्ते, निक नेम – जलेबी व जर्मन

पिता – लालमैथुआवा राल्ते, माता – लालमुआनपुई

फेमस – 2018 और 2022 में युवा ओलंपिक और कॉमनवेल्थ गेम्स में स्वर्ण पदक जीतने के लिए

जन्म – 26 अक्टुबर 2002. आइजोल, मिजोरम, राष्ट्रीयता – भारतीय

जन्म और शुरूआती जीवन

जेरेमी लालरिनुंगां का जन्म 26 अक्टूबर 2002 को कुकी आदिवासी(इसाई) परिवार में आइजोल, मिजोरम में हुआ था, उसके पिता लालमैथुआवा मजदूरी करते है और 90 के दसक के जानेमाने मुक्केबाज के खिलाड़ी रह चुके है, मॉ लालमुआनपुई राल्ते गृहणी है। इसके अलावा उनके भाई जेरी, जोसेफ और जेम्स सभी मुक्केबाज है।

करियर

6 साल की उम्र में उन्होंने अपने पिता की बॉक्सिंग अकादमी में मुक्केबाज के रूप में प्रशिक्षण शुरू किया। 8 साल की उम्र में आर्थिक तंगी के कारण बॉक्सिंग आकदमी को बंद करना पड़ा। बचपन में जिम में वेटलिफ्टिंग करते देख इस खेल में रूचि विकसित हुई। वेटलिफ्टिंग में पेशेवर खिलाड़ी के रूप में माल्सावामा खियांगते से लेना शुरू किया। आर्मी इंस्टीट्यूट, पुणे में टैलेंट स्काउटिंग में चुना गया जहां वेलिफ्टिंग ट्रेनिंग जारी रखी। बाद में, पटियाला में इंडियन नेशनल कैंप में इंडियन वेटलिफ्टिंग कोच विजय शर्मा से ट्रैनिंग ली। जेरेमी ने विश्व युवा चैंपियनशिप, खेलो इंडियां युथ गेम्स, एशियन यूथ और जूनियर चैंपियनशिप और कॉमनवेल्थ गेम्स में विभिन्न राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय वेटलिफ्टिंग मेडल जीते है।  

पदक

  • 2016 में विश्व युवा चैंपियनशिप में 56 किग्रा वर्ग में रजत
  • बर्मिघंम कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में 67 किग्रा. वर्ग में गोल्डमेडल
  • तशकेंट कॉमनवेल्थ चैंपियनशिप 2021 में 67 किग्रा वर्ग में गोल्ड
  • बुईनोस एयरेस युथ ओलंपिक गेम्स 2018 में 62 किग्रा वर्ग में गोल्ड

No Comments yet!

Your Email address will not be published.