Skip to main content

झारखंड: कोर्ट में हाजिर होने से पहले आदिवासी महिला को मारी गई गोली

Posted on December 14, 2022 - 11:30 am by

झारखंड की राजधानी रांची के अरगोड़ा थाना क्षेत्र स्थित सहजानंद चौक के समीप बाइक सवार तीन अपराधियों ने एक आदिवासी महिला को गोली मार दिया गया. घायल महिला का नाम सुषमा बड़ाईक है. उसे स्थानीय अस्पताल मेडिका में भर्ती कराया गया है. सुषमा बड़ाईक को वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया है. मिली जानकारी के अनुसार सुषमा बड़ाईक को गोली लगने की वजह लंग्स डैमेज हो गया है जिसकी वजह से उनकी स्थिति गंभीर बनी हुई है. उन्हें 2 गोलियां लगी थीं जिसमें एक गोली शरीर को छेद करते हुए पार कर गयी गयी थी.

हाईप्रोफाइल लोगों पर लगाए थे रेप के आरोप, होनी थी सुनवाई

सुषमा बड़ाईक ने कई हाईप्रोफिल लोगों पर गंभीर आरोप लगाए थे. सुषमा बड़ाइक का नाम तब चर्चा में आया था, जब आईपीएस अधिकारी पीएस नटराजन के साथ उनका वीडियों सामने आया था. सुषमा बड़ाइक ने पीएस नटराजन पर यौन शोषण का आरोप लगाया था. उस मामले में नटराजन को आरोप से बरी कर दिया गया था. हालांकि इससे पहले भी साल 2012 में पीएस नटराजन को बर्खास्त कर दिया गया था. सुषमा बड़ाइक ने 50 से अधिक लोगों पर बलात्कार और यौन शोषण के आरोप लगाए थे. कई मामले अब भी कोर्ट में चल रहे हैं.

मिल रही थी धमकी

सुषमा बड़ाईक की बहन माया बड़ाइक के अनुसार उसे लगातार धमकी दी जा रही थी. पांच दिन पहले दरवाजे की भी तोड़फोड़ की गई थी. इसके साथ पानी और बिजली काट दी गई थी. जिसके कारण वह असुरक्षित महसुस कर रही थी.

पुलिस ने उपलब्ध कराई थी बॉडीगार्ड

सुषमा बड़ाइक को पुलिस के द्वारा सुषमा बड़ाईक को एक बॉडीगार्ड भी उपलब्ध करवाया गया था। लेकिन अपराधियों ने बॉडीगार्ड के सामने ही सुषमा बड़ाइक को गोली मार दी. हटिया डीएसपी राजा मिश्रा ने बताया कि अपने बॉडीगार्ड के साथ सुषमा बाइक पर बैठकर कहीं जा रही थी इसी दौरान तीन की संख्या में अपराधियों ने पीछे से आकर फायरिंग शुरू कर दी.  बाइक के पीछे बैठी सुषमा को गोलियां लगी जिसके बाद वह नीचे गिर पड़ी. गोली की आवाज सुनकर आसपास के लोग जब जुटने लगे तो अपराधी तेज गति से बाइक चलाकर मौके से फरार हो गए. वहीं स्थानीय लोगों की सहायता से बॉडीगार्ड नहीं सुषमा को अस्पताल पहुंचाया जहां उसकी स्थिति गंभीर बनी हुई है.

हाईकोर्ट में 13 दिसंबर होनी थी सुनवाई

आईपीइस पीएस नटराजन समेत दर्जनों लोगों पर यौन शोषण, दुष्कर्म सहित अन्य आरोपों से जुड़े एक मामले की 13 दिसंबर को झारखंड हाईकोर्ट में सुनवाई होनी थी. संबंधित केस की संख्या 531/2020 है. यह मामला झारखंड हाईकोर्ट के न्यायाधीश जस्टिस संजय कुमार द्विवेदी की कोर्ट में सुनवाई के लिए सूचीबद्ध है. इस केस में वह अपना पक्ष खुद ही अदालत में रखने वाली थी. लेकिन सुनवाई से पहले मंगलवार की सुबह अज्ञात अपराधियों के द्वारा उन्हें गोली मार दी गई.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.