Skip to main content

झारखंड: जंगल में आदिवासी युवती का शव मिला, होने वाला था लग्न

Posted on December 4, 2022 - 9:08 pm by

झारखंड के हजारीबाग जिले में टाटीझरिया थानांतर्गत मायापुर के कंदापहरी जंगल में एक आदिवासी किशोरी का अर्धनग्न शव मिलने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई. मृतका की पहचान 17 वर्षीय फूलमती कुमारी पिता किशन टुडू के रूप में की गई. वह जेरूवाडीह गांव की रहने वाली थी. जेरूवाडीह के ग्रामीणों ने बताया कि रविवार सुबह गांव के कुछ लोग प्रतिदिन की तरह जानवर को चराने के लिए कंदापहरी की जगंल की ओर गए थी. उन्होंने वहां एक लड़की के शव को देखा, जिसके माथे पर चोट के निशान थे. वे डरते-सहमते वहां से भागे और ग्रामीणों को इसकी पहुंचे. गांव वालों ने शव की पहचान की और मृतका की मां को इसकी सूचना दी.

हत्या के कारणों का पता नहीं चला है

ग्रामीणों ने बताया कि लड़की के कमर के नीचे का कपड़ा उसके शरीर पर नहीं था. पैर में चप्पल पहने हुई थी और माथे से काफी खून बह रहा था. ऐसा लगता है कि जैसे किसी ने धारदार हथियार से उसके माथे पर वार किया हो. हालांकि थाना प्रभारी जितेंद्र कुमार ने नाबालिग के अर्धनग्न अवस्था की बात से इनकार किया है. उन्होंने कहा की उसकी मां चांदमुनी देवी ने बताया कि बेटी ने फ्रॉक और नीचे पैंटी ही पहनी ही हुई थी. मृतका ने कल दिन में भी यही कपड़े पहने थे. पुलिस ने बताया कि किसी ने उसके माथे पर पीछे से कोई कुल्हाड़ी वगैरह से वार किया, जिससे वह औंधे मुंह गिर गई. पुलिस ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है, जिसके बाद हत्या का कारणस्पष्ट हो पाएगा.

कभी सिंदूर लगाकर आयी थी, अब किसी और से विवाह होने वाला था

बताते चलें कि किशोरी अपनी मां चांदमुनी और 5 वर्षीय भतीजी के साथ रहती थी. पिताजी किशुन टुडू दो दिन पूर्व रोजगार के लिए पुणे गए थे. बड़ा भाई भी बाहर ही कमाता है. भाभी अपने मायके में है. उसकी मां चांदमुनी ने बताया कि रात को बेटी ने सभी के लिए खाना बनाया और सबको खिलाने के बाद खुद भी भोजना किया. फिर लगभग 9 बजे वह अपने कमरे में सोने चली गई. वह अकेले अलग कमरे में सोती थी. बताया गया कि वह किसी लड़के से फोन पर बात करती थी. लड़का आंगो थाना क्षेत्र के बेला गांव का रहने वाला है. कुछ लोगों ने बताया कि एक बार वह माथे पर सिंदूर भी लगाकर घर आई थी. घरवालों ने डांट फटकार कर उसे साफ करवा दिया था. अब उसकी किसी और से शादी होनेवाली थी.

एक साल पूर्व उसके चचेरी बहन की भी हुई है मौत

वहीं, ग्रामीणों ने बताया कि घटनास्थल के नजदीक एक साल पहले मृतका की 14 वर्षीय चचेरी बहन सूरजमुनी कुमारी की फांसी लगाकर मौत हुई है. उसकी मौत पर भी कुछ लोग हत्या तो कुछ आत्महत्या की बता कर रहे थे.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.