Skip to main content

झारखंड: सरना पर टिप्पणी करने पर आदिवासी आक्रोशित, एफआईआर दर्ज

Posted on December 10, 2022 - 12:48 pm by

विभिन्न आदिवासी/सरना समिति संगठनों के द्वारा 9 दिसंबर को सरना धर्म के बारे में गंदी गालियाँ देकर टिप्पणी करने और मजाक उड़ाने वाले पर कोतवाली थाना में FIR दर्ज की गई. वह सरायकेला खरसांवा जिले के  ग्राम चाकुलिया, पंचायत चिलगू थाना चांडिल का रहने वाला है.

बता दें कि विगत दिनों सुभाष चंद्र महतो पिता शंकर महतो द्वारा आदिवासियों के सरना धर्म को लेकर आपत्ति जनक टिपण्णी किया गया था, जो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है.

शिकायत पत्र में कहा गया कि विहिप-आरएसएस- बंजरंग दल का सदस्य सुभाष चंद्र महतो ने आदिवासियों के सरना धर्म का अपमान किया है. जिससे सभी सरना धर्मावलंबियों की भावनाओं, आस्था, विश्वास पर चोट हुआ है. जिस कारण सरना आदिवासी समूह के लोग काफी आक्रोशित हैं. प्रशासन अविलंब मुकदमा दर्ज कर उक्त व्यक्ति को गिरफ्तार करने की मांग की है.

वायरल वीडियों का इमेज

 इस मामले को लेकर केंद्रीय सरना समिति के अध्यक्ष अजय तिर्की ने कहा कि इस व्यक्ति के खिलाफ पुलिस प्रशासन द्वारा अब तक एक्शन नहीं लिया जाना दूखद है. उन्होंने अविलंब इस पर कारवाई करने की मांग की है नहीं करने पर आंदोलन तेज करने की बात कही है.

वहीं आदिवासी अधिकार रक्षा मंच के लक्ष्मी नारायण मुंडा ने हिंदू संगठन आरएसएस पर आरोप लगाते हुए कहा कि आदिवासियों के धर्म, विश्वास आस्था पर टिप्पणी करने वाले सुभाष चंद्र महतो द्वारा ऐसा टिप्पणी करना आर एस एस का एजेंडा की पोल खोल रहा है.  इससे जाहिर होता है कि सरना आदिवासी समुदाय के बारे में संघ परिवार क्या चाहता है.

आदिवासी जन परिषद के प्रेम शाही मुंडा ने कहा कि आदिवासियों के धार्मिक आस्था पर चोट करने वालों को किसी भी हालत में नहीं छोड़ने की बात कही. अखिल भारतीय आदिवासी विकास परिषद के कुदंरुसी मुंडा ने कहा कि अविलंब कारवाई हो नही तो आदिवासी समुदाय सड़क पर उतरने को मजबूर होगें. मौके पर कई संगठनों के व्यक्ति शामिल थे.

माफी मांगी गयी कमेंट

बता दें कि 7 अक्टूबर को एक वीडियों वायरल हुआ था. जिसमें सुभाष चंद्र महतो ने सरना धर्म को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी. हालांकि सुभाष चंद्र महतों ने वायरल हो रहे वीडियों में माफी मांग ली थी.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.