Skip to main content

झारखंड: सोहराय में बच्चों की परीक्षा रखे जाने पर आदिवासी नाराज

Posted on December 21, 2022 - 5:46 pm by

झारखंड के संताल क्षेत्र में 9 से 11 जनवरी तक बच्चों की परीक्षा होनी है. इसको लेकर आदिवासी अभिभावक काफी नाराज नजर आ रहे हैं. क्योंकि इस तिथि में संताल में सोहराय पर्व मनाया जाता है. इसको लेकर दिसोम मांझी थान समिति दुमका के बालेश्वर हेंब्रम (दिसोम मांझी) की अगुवाई में  21  दिसंबर को एक शिष्टमंडल ने दुमका उपायुक्त को एक ज्ञापन सौंपा.

दिसोम मांझी बाबा के अनुसार झारखंड सरकार द्वारा सरकारी विद्यालय में कक्षा 1 से लेकर 7  वर्ग तक बच्चों की अर्धवार्षिक परीक्षा दिनांक 9 जनवरी 2023  से लेकर 11 जनवरी 2023 तक प्रस्तावित है. इस दिन पूरे झारखंड के संथाल आदिवासियों का महापर्व सोहराय काफी हर्षोउल्लास के साथ गांव एवं शहरों में बच्चे अपने घरों में धूमधाम से मनाते हैं.  ऐसी स्थिति में बच्चे परीक्षा में शामिल नहीं हो पाएंगे.

इसी विषय को लेकर माननीय मुख्यमंत्री झारखंड सरकार एवं माननीय शिक्षा मंत्री झारखंड सरकार को उपायुक्त के माध्यम से ज्ञापन भेजा गया और सरकार से मांग किया गया की परीक्षा की तिथि में परिवर्तन किया जाए. ताकि यहां के संताल आदिवासी बच्चे अपने प्रमुख त्योहार में शामिल होकर अपने परंपरागत संस्कृति एवं धरोहर को जान सके.

मौके पर मुख्य रूप से मुख्य सलाहकार अजय हेंब्रम,  मुख्य संरक्षक चंद्र मोहन हांसदा एवं समिति के सुभाष चंद्र सोरेन (दिसोम गुडित) रामप्रसाद हांसदा,  कैप्टन सोरेन, फिलिप सोरेन एवं मांझी परगना स्वशासन समिति के सनत मरांडी नंदकिशोर पावरिया,  राखिशल मुर्मू, दिलीप हेंब्रम,  हेमसल मुर्मू दिलीप मुर्मू, सनातन हेंब्रम आदि मुख्य रूप से मौजूद रहे.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.