Skip to main content

जम्मू-कश्मीर: बेटों को बचाने गई मां की छत गिरने से मौत

Posted on November 15, 2022 - 1:50 pm by

जम्मू-कश्मीर में  डोडा जिले के भद्रवाह के सरटिंगल इलाके में बारिश के कारण मिट्टी के घर में भूस्खलन हुई. जिसमें 38 वर्षीय एक आदिवासी महिला की मौत हो गई. जबकि उसके दो नाबालिग बेटे मामूली रूप से घायल हो गए. घटना 14 नवंबर की है. डोडा समेत जम्मू-कश्मीर के बड़े इलाकों में सोमवार को बारिश हुई थी.

भद्रवाह के अतिरिक्त उपायुक्त (एडीसी) दिलमीर चौधरी के अनुसार यह घटना पहाड़ी जिले के भद्रवाह शहर से करीब 10 किलोमीटर दूर सरटिंगल पंचायत के बटला गांव में हुई. जिसमें गद्दी जनजाति के वेद कुमार (42) का मिट्टी का घर सुबह करीब 7.30 बजे भूस्खलन की चपेट में आ गया.  जिसमें उनकी पत्नी किरण देवी (38) और उनके दो बेटे मिशेल सिंग (15) और निक्सन जरयाल (10) फंस गए.

ग्रेटर कश्मीर की रिपोर्ट के अनुसार स्थानीय ग्रामीणों, 4 राष्ट्रीय राइफल्स की टुकड़ियों और पुलिस कर्मियों की मदद से एक बचाव अभियान शुरू किया गया था. दो घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद महिला और उसके दो बेटों को अस्पताल ले जाया गया. जहां डॉक्टरों ने किरण देवी को मृत घोषित कर दिया.

मृतक के बड़े बेटे मिशेल सिंह ने कहा कि नींद में सो रहे उसके छोटे भाई निक्सन को बचाने के दौरान उनकी मां मलबे में दब गई.

मिशेल सिंह (15) ने कहा  कि मेरी मां ने मुझे और मेरे सो रहे भाई को बाहरी कमरे में धकेल दिया क्योंकि ऊपर की छत अचानक नीचे आने लगी.  हालांकि वह हमें धक्का देने में कामयाब रही लेकिन तब तक सारी छत उसके ऊपर आ गई.

इस बीच, एडीसी ने कहा कि डीसी डोडा विशेष पॉल महाजन द्वारा आपदा प्रबंधन के तहत परिवार के लिए 25,000 रुपये की राशि तत्काल जारी की गई है.

सेना परिवार के लिए एक तम्बू भी स्थापित कर रही है.  इसके अलावा एक स्थानीय एनजीओ अबाबील ने कंबल, खाने का सामान और बर्तन उपलब्ध कराए हैं.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.