Skip to main content

केरल: परिवार ने की क्राइम ब्रांच से जांच की मांग, पुलिस पर लगाया चूक का आरोप

Posted on March 10, 2023 - 2:57 pm by

कोझीकोड मेडिकल कॉलेज के परिसर में फांसी पर लटके पाए गए आदिवासी युवक विश्वनाथन के परिवार ने चल रही पुलिस जांच पर निराशा व्यक्त की है. परिवार ने मंत्री के राधाकृष्णन से मामले की जांच राज्य अपराध शाखा को सौंपने का अनुरोध किया. यह अनुरोध तब किया गया जब मंत्री ने राज्य सरकार द्वारा घोषित 2 लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने के लिए आदिवासी युवक के घर का दौरा किया.

बता दें कि वायनाड के एक आदिवासी युवक विश्वनाथन अपनी गर्भवती पत्नी के लिए एक देखने के लिए मेडिकल कॉलेज अस्पताल पहुंचे और 8 फरवरी को लापता हो गए. परिवार ने आरोप लगाया कि एक भीड़ ने विश्वनाथन पर चोर होने का आरोप लगाकर हमला किया. दो दिन बाद उसका शव मेडिकल कॉलेज अस्पताल के पास एक पेड़ पर लटका मिला था.

परिजनों का आरोप है कि पुलिस मामले की जांच में पिछड़ रही है और आरोपी को पकड़ने में पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ रही है. परिवार ने पुलिस के ढुलमुल रवैये पर निराशा व्यक्त की और फिर से पोस्टमॉर्टम कराना चाहा.

चल रही जांच की स्थिति पर विश्वनाथन के भाई विनोद कहते हैं कि एक सुरक्षा कर्मचारी द्वारा उसके साथ दुर्व्यवहार किए जाने के बाद हमने एक गुमशुदगी की शिकायत दर्ज की, जिसमें आरोप लगाया गया कि उसने पैसे और एक मोबाइल फोन चुराया है. हालांकि, पुलिस शिकायत के आधार पर कोई कार्रवाई करने में विफल रही. जब हमने वर्तमान जानकारी जानने के लिए संपर्क किया तो पुलिस ने दुर्व्यवहार किया.

उन्होंने कहा कि कलपेट्टा पुलिस ने उन्हें माओवादी बताकर परिवार की झूठी छवि बनाने की कोशिश की.

परिजन ने कहा कि जब तक उन्हें मामले में न्याय नहीं मिल जाता तब तक वे लड़ाई लड़ेंगे.

इस बीच जांच दल ने कहा कि जांच प्रभावी ढंग से चल रही है. यहां सुरक्षा कर्मचारियों ने खुलासा किया कि विश्वनाथन ने उल्लेख किया कि कुछ लोग उन्हें चोर कहते हैं और दावा करते हैं कि उन्होंने पैसे चुराए हैं.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.