Skip to main content

कर्नाटक विधानसभा में नेता कान में फूल खोंस कर जता रहे हैं विरोध, जानिये इसका आदिवासी कनेक्शन

Posted on February 17, 2023 - 4:35 pm by

कर्नाटक विधानसभा बजट 2023-24 के पेश होने के दौरान कांग्रेस के विधायकों ने अनोखे तरिके से विरोध किया. मुख्यमंत्री वसवराज बोम्मई ने जिस वक्त बजट भाषण पढ़ना शुरू किया, कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया और अन्य कांग्रेस नेताओं को कानों में फूल लगाए देखा गया. विपक्ष के नेता सिद्धारमैया और केपीसीसी प्रमुख डीके शिवकुमार सहित कांग्रेस के अन्य नेता कानों में फूल लगाकर विधानसभा पहुंचे.

दरअसल कर्नाटक के मुख्यमंत्री वसवराज बोम्मई ने 17 फरवरी को राज्य का बजट 2023-24 पेश किया. इस दौरान सीएम ने कहा कि बेंगलुरू में भी राम मंदिर बनाया जाएगा. यह मंदिर बेंगलुरू के रामनगर में बनाया जाएगा. मुख्यमंत्री ने यह भी घोषणा की कि अगले दो वर्षों में हमारी सरकार की ओर से 1000 करोड़ रूपये की लागत से विभिन्न मंदिरों और मठों का विकास और नवीनीकरण किया जाएगा.
इस पर कांग्रेस के नेताओं ने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार ने पिछले बजट और 2018 के घोषणा पत्र के वादों को पूरा न करके कर्नाटक के लोगों को धोखा दिया है. विपक्ष ने राज्य सरकार के बजट को ‘Kivimelehoova’ कहा.

क्या है kivimelehoova?

दरअसल ‘Kivimelehoova’ कर्नाटक के आदिवासियों की एक कहावत है. जिसका अर्थ ‘अगर कोई आपको बेवकूफ बना रहा है, तो इसका मतलब है कि वो आपको भ्रमित कर रहा है.’ इसमें लोग कानों में फूल लगाकर विरोध करते हैं. कांग्रेस के नेताओं का आरोप है कि भाजपा सरकार कर्नाटक में लोगों को बेवकूफ बना रही है.
विपक्ष के नेता सिद्धारमैया ने बार-बार भाजपा सरकार पर यह दावा करते हुए हमला करते रहे हैं कि सत्तारूढ़ पार्टी ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में 600 वादे किए थे, लेकिन उनमें से मुश्किल से 10 प्रतिशत ही पूरे किए गए हैं.
बता दें कि इस वर्ष कर्नाटक में अप्रैल मई में चुनाव हो सकते हैं.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.