Skip to main content

मध्यप्रदेश: बिल्डर ने हड़पी जमीन, पुलिस पीड़ित आदिवासियों को कर रही है परेशान

Posted on November 30, 2022 - 1:08 pm by

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल से सटे तीन गांव के अदिवासी कलेक्टोरेट पहुंचे. वहां पर प्रदर्शन किया. उन्ही में से एक आदिवासी परिवार का आरोप है, “एक बिल्डर ने उनकी जमीन हड़प ली है. वह अब उन्हें जान से मारने की धमकी दे रहा है, उनके साथ धोखाधड़ी हुई है.”

क्या है पूरा मामला?

शिकायत करने पहुंची सोनिया सिंह धुर्वें ने बताया, “बिल्डर ने छलपूर्वक दस्तावेज तैयार किए और जमीन हड़प ली है. इसे लेकर कोलार थाने में धोखाधड़ी की शिकायत भी की थी. इसके बाद पुलिस ने केस दर्ज कर लिया.  उस जांच में सामने आया कि जालसाजी से रजिस्ट्री हुई है. इसके बाद प्रशासन ने भी रजिस्ट्री को अवैध मान लिया. बावजूद अब तक बिल्डर की गिरफ्तारी नहीं हुई है.”

पीडि़तों की मांग है कि जमीन को शासकीय खसरे में फिर से उनके नाम पर दर्ज किया जाए.

पुलिस पीड़ितो पर कर रही है कार्यवाई

कोलार पुलिस थाने में आरोपितों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया गया है. इसके बाद भी बिल्डर पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है. पीड़ित का आरोप है कि बिल्डर को पुलिस ने छूट दे रखी है. व  उन्ही के परिवारों को गिरफ्तार किया जा रहा है. अपनी कुछ ऐसी ही मांगों को लेकर तीन गांव के आदिवासी मंगलवार को कलेक्ट्रेट में तख्ती लेकर पहुंचे.

जहां उन्होंने जनसुनवाई के दौरान बिल्डर के खिलाफ कार्रवाई की मांग की और कलेक्ट्रेट के बाहर प्रदर्शन भी किया.

भोपाल कलेक्टोरेट पहुंचे थे पीड़ित आदिवासी

भोपाल कलेक्टोरेट कार्यालय में  29  नवंबर को जनसुनवाई की जा रही थी. उस समय आदिवासी परिवारों के साथ पहुंची एक युवती सोनिया सिंह धुर्वे ने बताया कि कांकरिया, महाबरिया और दौलतपुर में जमीन है, जिस पर बिल्डर ने कब्जा जमा लिया है.

कोलार थाने में प्रकरण दर्ज करवाया, लेकिन गिरफ्तारी नहीं की गई है बल्कि उसके पिता पर ही प्रकरण दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया है. तीनों गांवों में लगभग 50 आदिवासियों की जमीन है.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.