Skip to main content

मध्यप्रदेश: आदिवासियों व पुलिसकर्मियों के बीच हुई भिड़ंत, जानिए क्या है मामला?

Posted on November 19, 2022 - 3:23 pm by

आदिवासियों व पुलिसकर्मियों के बीच 17 नवंबर भीड़ंत हो गई थी. जिससे प्रदर्शन कर रहे कई आदिवासी सहित दर्जनों पुलिसकर्मी घायल हुए. मामला मध्यप्रदेश के सिवनी जिले की है.  जहां एक युवक की हत्या के दो महीने बाद भी आरोपियों को पकड़ा नहीं जा सका है. इस पर नाराज आदिवासी समूह ने नेशनल हाइवे-7 पर चक्का जाम कर प्रदर्शन किया था.

दरअसल 3 सितंबर को सिविल लखनादौन अस्पताल में विक्की नामक युवक का शव छत पर से बरामद किया गया था. शव को केवल देखने मात्र से हत्या किए जाने का पता चल रहा था. घटना के दो माह बीतने के बावजूद पुलिस ने आरोपियों को नहीं पकड़ा. जिसके खिलाफ परिजन और आदिवासी समुदाय ने प्रदर्शनी की. आनन-फानन में पुलिस ने एक युवक को आरोपी मान गिरफ्तार कर लिया.

परिजनों का आरोप गलत व्यक्ति की हुई है गिरफ्तारी

गिरफ्तार किए गए युवक और परिजनों ने आपत्ति जताई है. उन्होंने आरोप लगाया है कि पुलिस ने गलत युवक को आरोपी करार देकर गिरफ्तार किया है. साथ ही यह भी कहा कि पुलिस अब तक आरोपियों तक पहुंचने में असफल है और निर्दोष युवक को आरोपी बना दिया है.

मृतक के परिजन और आदिवासी समूह के करीब 3000 लोगों ने असली आरोपी की गिरफ्तारी को लेकर मांग की है. जिसके बाद उन्होंने चक्काजाम कर प्रदर्शन की. प्रदर्शनकारियों को पुलिसकर्मियों ने समझाने की कोशिश की. लेकिन दोनों पक्षों के बीच यह मामला विवाद का रूप ले लिया. प्रदर्शनकारियों ने पुलिसकर्मियों पर पथराव कर दिया. आक्रोशित प्रदर्शनकारियों पर पुलिस द्वारा पानी की बौछार और गैस का इस्तेमाल किया गया.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.