Skip to main content

मध्यप्रदेश: आदिवासियों की जमीनों पर जबरन कब्जा करने या हड़पने की कोशिश कर रहे नेता

Posted on November 8, 2022 - 11:03 am by

मध्यप्रदेश के टीकमगढ़ जिले में आदिवासियों की जमीनों की अनुमति लेकर अपने नाम रजिस्ट्री और जबरन कब्जा करने के मामले लगातार सामने आ रहे हैं. 7 नवंबर को स्थानीय भाजपा नेता जितेंद्र सेन जीतू ने आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता बृजकिशोर पटैरिया पर आरोप लगाया है. जिसमें जबरन कल्ला आदिवासी की जमीन को हड़पने की बात कही हैं. जिसकी शिकायत कल्ला आदिवासी ने कलेक्टर व एसपी से की थी.

सेन जीतू ने कहा कि कल्ला आदिवासी मेरी खेती करता है,  इसलिए उसके पक्ष में मैंने उसका साथ दिया. इसी के चलते बृजकिशोर पटैरिया ने मेरे और मेरे रिश्तेदारों के ऊपर आदिवासियों की जमीन हड़पने के झूठे आरोप लगाए. सेन ने कहा कि जिला प्रशासन पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कराए. जिससे स्पष्ट हो की आदिवासी की जमीन कौन हड़प कर रहा है. बता दें कि 5 दिन पहले आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता बृजकिशोर पटैरिया ने प्रेसवार्ता कर भाजपा नेता जीतू सेन और उनके परिजन पर आदिवासियों की जमीन खरीदकर प्लाटिंग करने के आरोप लगाए थे.

5 साल के दौरान बेची गई जमीन का रिकॉर्ड को सार्वजनिक किया जाए

प्रेसवार्ता के दौरान भाजपा नेता जितेंद्र सेन जीतू ने अपनी ही सरकार को कटघरे में खड़ा कर दिया. उन्होंने कहा कि जिले में बीते 5 साल के दौरान सबसे ज्यादा आदिवासियों की जमीनें नियम विरुद्ध तरीके से बेची और खरीदी गई हैं. जिसमें जिले के वरिष्ठ अधिकारी और कई दिग्गज नेता शामिल हैं. सेन ने कहा कि बीते 5 साल के दौरान बेची गई आदिवासियों की जमीनों के रिकॉर्ड को सार्वजनिक किया जाए. जिससे स्पष्ट होगा कि आदिवासियों की जमीन को हड़पने का काम किसने किया है.

“आदिवासियों की जमीन के मामलों की जांच करवाई जा रही है। प्रमोद यादव नादिया वाले मामले की भी जांच चल रही है। इसके अलावा जीतू सेन और बृजकिशोर पटैरिया के मामले को लेकर भी जांच करवाएंगे।” – सुभाष कुमार द्विवेदी, कलेक्टर

टीकमगढ़ जिले में अब तक तीन मामले आए सामने

टीकमगढ़ जिले में आदिवासियों की जमीन पर जबरन कब्जा या हड़पने के अब तक तीन मामले सामने आ चुके हैं. जिनमें भाजपा नेता प्रमोद यादव नादिया पर बीते दिनों गांव के आदिवासी लोगों ने जबरन जमीन पर कब्जा करने की बात कही थी. वहीं ब्रजकिशोर पटैरिया ने जितेंद्र सेन जीतू पर आदिवासियों की जमीन हड़पने और उन पर कॉलोनी कॉटने के आरोप लगाए थे. जबकि सोमवार को जीतू सेन ने मीडिया के सामने पटैरिया पर आदिवासियों की जमीन जबरन हड़पने के आरोप लगाए. सेन ने कहा कि फर्जी रजिस्ट्री करवाकर पटैरिया आदिवासी की जमीन का हथियाना चाहते हैं.

2009 में खरीदी थी आदिवासी की जमीन

भाजपा नेता जीतू सेन ने कहा कि उन्होंने विधिवत अनुमति लेकर 2009 में आदिवासी की जमीन खरीदी थी. जिस पर आज भी मैं खेती करता हूं. उन्होंने कहा कि बृजकिशोर पटैरिया ने आदिवासी की जमीन पर मकान बनाया और ग्रेडिंग मशीन लगाई. वहीं कुंडेश्वर खिरिया रोड पर पटैरिया ने जो वेयर हाउस बनाया है,  वह जमीन भी अवैध कब्जे की है.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.