Skip to main content

मध्यप्रदेश: करीला मेले में बेडनी नर्तकियों का HIV टेस्ट कराने से भड़के लोग

Posted on March 14, 2023 - 6:01 pm by

मध्य प्रदेश के अशोकनगर में बेड़ियाँ जनजाति की महिलाओं का एचआईवी टेस्ट (HIV Test) कराए जाने से लोग नाराज़ हैं. जिला कलेक्टर उमा महेश्वरी आर ने इस मामले की जाँच के लिए एक कमेटी बनाई है. इस मामले में राज्य के महिला आयोग ने भी संज्ञान लिया है. महिला आयोग ने ज़िला अधिकार से इस मामले में रिपोर्ट माँगी है.

यह मामला मध्य प्रदेश के अशोकनगर में करीला मेला से जुड़ा हुआ है. यह मेला रविवार को शुरू हुआ था. स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक इस मेले में नाचने के लिए आईं 11 नृत्यांगनाओं का HIV टेस्ट कराया गया है.

यह भी पता चला है कि जिन महिलाओं का HIV टेस्ट कराया गया है उन्हें इसके बारे में बताया तक नहीं गया था.

करीला मेला और बेड़िया जनजाति

मध्य प्रदेश के अशोकनगर से 35 किमी दूर करीला में प्रसिद्ध जानकी माता का मंदिर स्थित है. इस स्थान को लव कुश के जन्म स्थान के रूप में भी जाना जाता है. हर साल रंगपंचमी पर धार्मिक एवं सांस्कृतिक मेले का आयोजन किया जाता है, जिसमे प्रसिद्ध राई नृत्य की जाती है. इस मेले में लाखों लोग शामिल होते हैं.

मान्यता है कि हिन्दूओं के भगवान राम की पत्नी ने घर से निकाल दिए जाने के बाद यहीं पर लव-कुश यानि अपने दो पुत्रों को इसी गाँव में जन्म दिया था. मान्यता के अनुसार यहाँ आने वाले श्रद्धालुओं की मनोकामना पूरी होती है. राई नृत्य बेड़ियाँ जनजाति की महिलाएँ करती हैं. 

कौन है बेड़ियाँ जनजाति

बेड़िया जनजाति देश विदेश में अपने राइ नृत्य के कारण प्रसिद्ध है. इस जनजाति की स्त्रियां स्थानीय संबोधन में बेड्नी भी कहा जाता है. इस जनजाति के लोग रेंगाड़ी, झमका, दापु , ढोलकी, मर्दंग, नगड़िया , झांझ और मीके जैसे वाद्य यंत्रो के साथ अपनी कला का प्रदर्शन करते है.

कभी कभी राइ नृत्य 22-24 घंटो तक लगातार चलता है. पुराने समय में बड़े बड़े लोगों के यहाँ इस नृत्य के बिना शादियाँ या किसी भी बड़े कार्यक्रम की रस्मों को अधूरा माना जाता था. इसका आयोजन भी एक अलग प्रकार से होता है.

लोग एक घेरा बनाके खड़े हो जाते है, बीच में ग्राम नर्तिकी ख्याल नामक गीत गाते हुए चक्राकार नाचती है. पुरुष ढोलकी बजाते है. बुंदेलखंड क्षेत्र के रनगाँव, पथरिया, विजावत,विदिशा, रायसेन, हबला, फतेहपुर, जैसे गाँवों में इस जनजाति के लोग बड़ी संख्या में रहते हैं. 

No Comments yet!

Your Email address will not be published.