Skip to main content

मध्यप्रदेश:  टंट्या भील की जन्मस्थली पहुंचे राहुल,  हाथों में तीर कमान लेकर साधा निशाना

Posted on November 24, 2022 - 5:35 pm by

गुजरात चुनाव अगले महीने होना है इसके साथ अगले साल मध्यप्रदेश में भी चुनाव होंगे. इसको लेकर कांग्रेस तैयार है. वहीं राहुल गांधी भारत जोड़ो यात्रा पर हैं. इसको लेकर 24 नवंबर को भारत जोड़ो यात्रा के तहत राहुल गांधी और प्रियंका गांधी का काफिला टंट्या भील की जन्मस्थली बडौदा पहुंचा.  यहां पर राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने हाथों में तीर कमान लेकर निशाना साधा.  इस अवसर पर काफी संख्या में आदिवासी समुदाय के लोग भी शामिल हुए. राहुल गांधी को इस मौके पर आदिवासी पोशाक भी पहनाई गई.

कौन थे टंट्या मामा

आदिवासी समाज के टंट्या मामा ने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में अहम भूमिका निभाई थी. वर्ष 1844 में जन्मे मामा का वास्तविक नाम टंट्या भील है.  लेकिन लोग उन्हें मामा बुलाते थे. अंग्रेजों के लिए वे उपद्रवी,  लेकिन भारतीयों के लिए रॉबिनहुड थे. भारत की आजादी के लिए हजारों समर्थकों के साथ टंट्या मामा अंग्रेजों से लोहा लेए थे. अंग्रेजों ने मामा को उनके परिवार के एक सदस्य की मुखबिरी से पकड़ा था.

मामा की ख्याति का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि उनके पकड़े जाने की खबर तब द न्यूयॉर्क टाइम्स ने प्रकाशित कर उन्हें द रॉबिनहुड ऑफ इंडिया लिखा था. ब्रिटिश सरकार ने उन्हें 1889 में फांसी दी थी. मान्यता है कि ब्रिटिश सरकार ने टंट्या मामा की पार्थिव देह को पातालपानी रेलवे स्टेशन के पास फेंक दिया था, जहां उनकी समाधि मौजूद है. यहीं टंट्या मामा का छोटा सा मंदिर भी है.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.