Skip to main content

मध्यप्रदेश: वीरू यादव मारपीट कर करवाता था बेगारी, आदिवासी परिवार पहुंचा एसपी कार्यालय

Posted on January 28, 2023 - 10:53 am by

मध्यप्रदेश के दमोह जिले में हथनी गांव से नाहटा थाना एसपी कार्यालय में एक आदिवासी परिवार पहुंचा. आदिवासी परिवार ने बताया कि बीरू यादव उनसे बेगारी करवा रहा था. जिसके कारण परम ने काम करने से मना कर दिया. जिसके कारण उसके साथ मारपीट की गई. इसके साथ उसके मां और भाई के साथ भी मारपीट की गई.

एसपी कार्यालय के बाहर चप्पल-जूते उतारने की हो रही चर्चा

अपनी पीड़ा लेकर पहुंचे आदिवासी परिवार ने कार्यालय के बाहर जूते चप्पल उतारे और फिर जाकर पुलिस को अपनी समस्या बताई. लौटकर आए परिवार से जब कार्यालय के बाहर जूते उतारने का कारण पूछा, तो उसने बताया दहलीज को वह अपनी मां के समान मानते हैं. उनकी मर्यादा है, जूते पहन के नहीं जा सकते, इसलिए बाहर उतार कर गए थे.

जब ग्रामीण से पूछा कि एसपी कार्यालय के भीतर जाने से पहले उनके पूरे परिवार ने जूते चप्पल क्यों उतारे, तो उसने कहा ऐसा करने के लिए उससे किसी ने नहीं कहा. वो दहलीज को अपनी मां मानते हैं और इसलिए ऑफिस में जाने से पहले जूते चप्पल बाहर उतार दिए थे. वो अपनी समस्या लेकर आई थे. एसपी सर, तो उन्हें नहीं मिले, लेकिन दूसरे पुलिस अधिकारी ने आवेदन लेकर कहा है कि शीघ्र ही समस्या का समाधान हो जाएगा.

बेगारी करवाने वाले बीरू ने उलटा थाने में रिपोर्ट करा दी

परम ने जब बेगारी करने से मना कर दिया तो उसके साथ परिवार के लोगों से भी मारपीट की. इतना ही नहीं आदिवासी परिवार का कहना है कि विवाद के दौरान वीरू जमीन पर गिर गया और एक पत्थर उसके सिर में लग गया तो उसने नोहटा थाने में रिपोर्ट दर्ज करा दी कि परम आदिवासी ने उसे पत्थर मारा है. जबकि यह झूठ है.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.