Skip to main content

महाराष्ट्र: गढ़चिरौली में 15 और 16 अप्रैल को होगा पहला आदिवासी महिला साहित्य सम्मेलन

Posted on March 22, 2023 - 4:53 pm by

आजाद भारत में आदिवासी समाज के महिलाओं के द्वारा पहला आदिवासी महिला साहित्य सम्मेलन 15 और 16 अप्रैल को महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में किया जाएगा. इसके आयोजक कर्ता क्राती. नारायणसिंह उईके आदिवासी विकास समिति, आदिवासी एकता परिषद, फेडरेसन ऑफ इंडियन इंडिजिनियस लैंग्वेज और अखिल भारतीय आदिवासी विकास परिषद हैं. आदिवासी महिला साहित्य सम्मेलन में देशभर की महिलाएं शामिल होंगी. साहित्य सम्मेलन की अध्यक्षता मेघालय की साहित्य अकादमी पुरस्कार प्राप्त साहित्य लेखिका स्ट्रिमलेट डखार करेंगी. उद्घाटन के लिए महाराष्ट्र की लेखिका नजुबाई गावित उपस्थित रहेंगी. वहीं UNPFII के पूर्व अध्यक्ष फुलमन चौधरी भी इसमें शामिल होंगे.

कार्यक्रम का उद्देश्य  

इस सम्मेलन का उद्देश्य आदिवासी अस्तित्व, अस्मिता, ज्ञान, परंपरा, कला, आदिवासी महानायकों का इतिहास उजागर करना है. विषमतावादी विचारों का प्रखरता से विरोध कर उसका निषेध करना है. इसके अलावा संवैधानिक अधिकारों के बारें में जागरूक करना है.

आदिवासी एकता परिषद की कुसुमताई अलाम बताती हैं कि आदिवासी महिला समाज, संस्कृति, कला और परंपरा की वाहक है. आदिवासी महिलाओं का हर सामाजिक स्तर पर बडा योगदान है. वहीं अब भी महिलाएं वर्तमान परिस्थिति में आर्थिक, आरोग्य, सामाजिक, शैक्षणिक, राजकीय, पीछे कहीं छुटती जा रही है. महिला सुरक्षा पर बडे सवाल है.

कुसूम अलाम/फेसबुक

उन्होंने कहा कि वर्तमान में आदिवासी महिला संकटो से घिरी हुई है. आये दिन हर एक मुसिबत का सामना करना पड रहा है. जल जंगल जमीन जैसे नैसर्गिक संसाधन बचाने का काम पुरुष के कंधे से कंधे मिलाकर कर रही है और बुरी तरह प्रताड़ित भी हो रही है.

इसके बावजुद जल जंगल जमीन अब बच जाए ऐसी स्थिति अनुकूल नही नजर नहीं आती. उसमें महिला बाल सुरक्षा का सवाल खडा हो गया. हमारी काफी महिलाए समाज के लिए धरोहर से जुड़े काम कर रही है. यह स्थिति आदिवासी बहुल क्षेत्र मे सभी जगह पर है. आदिवासी आश्रम स्कुल, कॉलेज, काम की जगह और घर में भी आदिवासी महिला सुरक्षित नही बच रही.

इसी को लेकर एक साथ विचार मंथन हो और आदिवासी साहित्य में महिला क्या लिख रहे हैं. क्या लिखना चाहिए. सामाजिक कार्यकर्ता की आगे की दिशा निश्चित रूप में क्या होनी चाहिए. ऐसे मुद्दों को लेकर महिला सुरक्षा में समाज सुरक्षा की रणनीति बनाने के लिए महाराष्ट्र के गढ़चिरौली के धानोरा रोड में माडेतुकूम स्थित महाराजा लॉन में दो दिवसीय पहला आदिवासी महिला साहित्य सम्मेलन का आयोजन 15 और 16 अप्रैल 2023 को किया जाएगा.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.