Skip to main content

नागालैंड चुनाव: भाजपा क्षेत्र और धर्म के आधार पर भेदभाव नहीं करती है – पीएम मोदी

Posted on February 24, 2023 - 4:00 pm by

नागालैंड में होने वाले चुनाव को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को नगालैंड के चुनावी रैली में शामिल हुए. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिमापुर के सभा में कहा कि हम गरीबों, आदिवासियों, महिलाओं के विकास पर अधिक फोकस कर रहे हैं. यह समाज का वह हिस्सा है, जो विकास के लाभ से वंचित रहा है. इसलिए आज हमारी हर स्किम में इस वर्ग को प्राथमिकता दी जा रही है. गरीब को घर, टायलेट, बिजली, गैस कनेक्शन बीजेपी घर जाकर दे रही है. नागालैंड के लिए 50 हजार घर स्वीकृत हुए हैं.

भाजपा सरकार क्षेत्र और धर्म को लेकर भेदभाव नहीं करती

उन्होंने कहा कि पाइप से घर-घर पानी मिले नागालैंड के बहनों का सपना होता था. पिछले साढ़े तीन वर्षों में ही नागालैंड के 3.5 लाख घरों तक पहुंचाने की सुविधा दी गई है. इसका सबसे अधिक लाभ आदिवासी महिलाओं को हुआ है. आयुषमान भारत का लाभ आदिवासियों को हुआ है. जिसमें इस स्किम के तहत मुफ्त इलाज कराया है.

पीएम ने कहा कि भाजपा सरकार क्षेत्र और धर्म को लेकर भेदभाव नहीं करती है. बता दें कि नागालैंड में ईसाई आबादी 90 फीसदी है. यूनाईटेड क्रिस्चियन फोरम ने अपने रिपोर्ट में कहा है कि भाजपा सरकार मे अल्पसंख्यको पर हमले बढ़े हैं. इसके अलावा भाजपा पर आदिवासियों को धर्म के आधार पर बाटने का आरोप भी लगते रहे हैं.

पीएम ने कहा कि हमारी सरकार छोटे किसानों और आदिवासियों को मदद दे रही है. नेचुरल फार्मिंग और मिलेट्स ‘श्री अन्न’ को प्रमोट करने के लिए इस वर्ष के बजट में शामिल किया गया है. इससे नागालैंड के छोटे किसानों और आदिवासियों को बहुत लाभ मिलने वाला है. इससे ऑर्गेनिक खेती को बल मिलेगा. बांस की खेती को लेकर भी पुराने कानून को बदलने से आदिवासी किसानों को लाभ मिल रहा है. इसी के कारण आदिवासी क्षेत्रों में बीजेपी को प्यार मिल रहा है.

स्पोर्ट्स पावर बनने में नागालैंड की बड़ी भूमिका

पीएम मोदी ने आगे कहा कि आज जब भारत दूनियां की एक बड़ी स्पोर्ट्स पावर बनने की ओर बढ़ रहा है. इसमें हमारे नागालैंड के युवाओं की बहुत बड़ी भूमिका है. भारत के ओलंपिक के फूटबॉल टीम के पहले कैप्टन तालीमेरेन एओ को बहुत गर्व के साथ याद करते हैं. स्पोर्ट्स की इतनी रीच लिगेसी नागालैंड के पास है.

नागालैंड का यह स्पोर्ट्स पोटेंशियल देश के काम आए इसके लिए एनडीए सरकार काम कर रही है. इसी लक्ष्य के साथ नागालैंड में खेलों इंडिया स्टेट सेंटर ऑफ एक्सेलेंसी बनाया गया है. इससे रेसलिंग आर्चरी और बॉक्सिंग जैसी मुलभूत सुविधाएं मिल रही है.

बता दें कि मेघालय और नागालैंड में 60 विधानसभा सीटों के लिए 27 फरवरी को चुनाव होना है. मेघालय में चुनाव से पहले शुक्रवार का प्रचार मोदी की यह पहली और आखिरी रैली होगी. वहीं दो मार्च को चुनाव का परिणाम आना है.

नागालैंड की जनगणना 2011 के अनुसार नागालैंड की आबादी 19.78 लाख है. जिसमें 13,09,651 मतदाता हैं. यहां पर 60 में 59 सीट आदिवासियों के लिए आरक्षित है. साल 2018 के विधानसभा चुनाव में NPF(नागा पीपल्स फ्रंट) को 26 सीट, NDPP को 18, BJP को 12, NPP  को 2 सीट और अन्य पार्टी महज 2 सीट ही जीत पायी थी. नागा पीपल्स फ्रंट के 26 सीट जीतने के बावजूद भी वह सरकार नहीं बना पायी. NDPP और BJP के गठबंधन में सरकार बनी. जिसमें नेफ्यु को मुख्यमंत्री बनाया गया. वहीं साल 2013 में गठबंधन में NDF को 38 सीट और BJP को 1 सीट मिली थी. इसके अलावा कांग्रेस को 8 सीट, NCP को 4 व अन्य पार्टियों को 9 सीटें प्राप्त हुई थी.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.