Skip to main content

ओडिशा: भतीजे को था चाचा पर टोना करने का शक, अकेले पाकर किया सिर कलम

Posted on November 14, 2022 - 1:41 pm by

ओडिशा से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है. जिसमें एक 60 वर्षीय व्यक्ति का जादू-टोना करने के शक में सिर कलम कर दिया गया. यह करने वाला और कोई नहीं बल्कि उस व्यक्ति का अपना भतीजा था.

मामला ओडिशा के आदिवासी बहुल मयूरभंज जिले का है. आरोपी की पहचान बापून के रूप में की गई है, वह रिश्ते में मृतक का भतीजा था. उसे अपने चाचा पर जादू टोना करने का शक था.

क्या है पूरा मामला

पुलिस ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि कि मयूरभंज जिले के भोलागड़िया ग्रामपंचायत के सरजंडी गांव के रहने वाले तंगगुरु सिंह की हत्या कर दी गई है. शुक्रवार शाम को उनके परिवार को उनका कटा हुआ सिर मिला था. पुलिस नें शुरुआती जांच के बाद ही आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

जानकारी के अनुसार घटना वाले दिन तंगगुरु सिंह घर पर अकेले थे. उनकी पत्नी और बहू पास के एक स्टेडियम में फुटबॉल मैच देखने गए थे. जब वे लौटे तो तंगगुरु सिंह का खून से लथपथ कटा हुआ सिर देखकर घबरा गए.

मामले की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की जांच शुरू की. पुलिस ने कहा कि सिंह के भतीजे बापून को प्रारंभिक जांच के बाद गिरफ्तार किया गया और उसने तंगगुरु सिंह की हत्या करने की बात कबूल की. लंबे समय से बापून को अपने चाचा पर जादू टोना करने का संदेह था. जमीन से जुड़े मसलों को लेकर भी उनका उनसे विवाद चल रहा था. शुक्रवार को दोनों में झगड़ा होने लगा जिसके बाद बापून ने तंगगुरू सिंह की हत्या कर दी.

पहले भी सामने आ चुके हैं ऐसे मामले

राज्य सरकार द्वारा आरोपियों पर मुकदमा चलाने के लिए एक विशेष कानून बनाए जाने के बावजूद, ओडिशा में अक्सर जादू टोना करने के संदेह में हत्या और हमले की घटनाएं सामने आती हैं. इस साल ओडिशा प्रिवेंशन ऑफ विच हंटिंग एक्ट 2013 के तहत 60 से ज्यादा एफआईआर दर्ज की गई हैं. सबसे ज्यादा अपराध मयूरभंज जिले में हुए.

पिछले महीने, गंजम जिले में पुलिस ने 20 महिलाओं सहित 33 लोगों को एक 55  वर्षीय महिला की कथित तौर पर पीट-पीट कर मार डालने के आरोप में गिरफ्तार किया था, क्योंकि उसने अपने पति पर जादू-टोना करने के संदेह में पुलिस से संपर्क किया था. सितंबर में  मयूरभंज जिले में इसी तरह के संदेह पर एक 33 वर्षीय आदिवासी व्यक्ति की कथित तौर पर हत्या करने के आरोप में सात लोगों को गिरफ्तार किया गया था.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.