Skip to main content

ओडिशा:  आदिवासी मेले में हर साल पांच से छह करोड़ का कारोबार

Posted on February 21, 2023 - 12:24 pm by

ओडिशा के भुवनेश्वर में 10  दिवसीय आदिवासी मेले का आयोजन युनिट 1 क्षेत्र के आदिवासी प्रदर्शनी मैदान में किया जा रहा है. हर साल आठ से 10 लाख लोग मेले में आते हैं, जिससे 5 करोड़ रुपये से 6 करोड़ रुपये का कारोबार होता है.

मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने 20 फरवरी को शहर में वार्षिक आदिवासी मेला का उद्घाटन किया. उन्होंने प्रदर्शनी के कला एवं संस्कृति खंड का उद्घाटन करने की घोषणा करने के बाद उसका अवलोकन किया. ओडिशा के आदिवासियों के जीवन और संस्कृति को प्रदर्शित करने वाले इस मेले में इस वर्ष 10 विशेष रूप से कमजोर जनजातीय समूहों (पीवीटीजी) के डमी घरों को प्रदर्शित किया गया है. इसके अलावा 121 स्टालों के अलावा बाजरा, हल्दी, शहद अरारोट, दाल जैसे आदिवासियों द्वारा विभिन्न उत्पादों और वन उत्पादों को प्रदर्शित और बेचा जा रहा है. जिनमें से 62 आईटीडीए स्टॉल आदिवासी महिलाओं द्वारा एकत्रित और उत्पादित उत्पादों की बिक्री कर रहे हैं. एसएचजी महिलाओं को सूक्ष्म परियोजनाओं के कुल 17 स्टॉल आवंटित किए गए हैं.

इसी तरह आदिवासी विकास सहकारी निगम (TDCC), ओडिशा वानिकी क्षेत्र विकास परियोजना (OFSDP), मिशन शक्ति, ओडिशा ग्रामीण विकास और विपणन सोसायटी (ORMAS), बाजरा मिशन, हथकरघा, कपड़ा और हस्तशिल्प विभाग, योजना और अभिसरण विभाग 23 स्टालों में उनके उत्पाद बिक्री और प्रदर्शन कर रहे हैं.

इसके अलावा, स्थल में फास्ट एड कैंप, अस्थायी फायर बिरिगेड और बिजली नियंत्रण कक्ष आदि हैं. भुवनेश्वर में आदिवासी मेले में हर शाम सांस्कृतिक कार्यक्रम और आदिवासी नृत्य होगा, जो 1 मार्च तक जारी रहेगा. लोग दोपहर 3.30 बजे से रात 9.30 बजे तक मेले में आ सकते हैं.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.