Skip to main content

ओड़िशा: भगवान श्री जगन्नाथ का आशीर्वाद लेने 2 किमी नंगे पैर पहुंची राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू

Posted on November 10, 2022 - 4:06 pm by

राष्ट्रपति बनने के बाद द्रौपदी मुर्मू पहली बार ओड़िशा पहुंची है. भुवनेश्वर एयरपोर्ट पर ओड़िशा के राज्यपाल प्रो. गणेषी लाल, मुख्यमंत्री नवीन पटनायक तथा केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने राष्ट्रपति का स्वागत किया. राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने भगवान श्री जगन्नाथ का आशिर्वाद लेने के लिए 2 किलोमीटर तक नंगे पैर यात्रा की. जहां भक्तों ने राष्ट्रपति का स्वागत किया.

भगवान का नियमित दर्शन करेंगी

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने कहा कि वह नियमित पुरी आकर भगवान के दर्शन करती रहेंगी. बड़दांड में भी राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु भाव विह्वल हो गई थी. पुरी बड़दांड में पैदल चलकर श्रीमंदिर पहुंची. तालबणिया हेलीपैड से राष्ट्रपति का काफिला जैसे ही बड़दांड में पहुंचा वह अपने वाहन से उतर गई और बड़दांड में रास्ते के किनारे खड़े स्कूली बच्चों के साथ कुछ पल गुजारा, उनके साथ चर्चा की.

बड़दांड में भी राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु भाव विह्वल हो गई थी. पुरी बड़दांड में पैदल चलकर श्रीमंदिर पहुंची. तालबणिया हेलीपैड से राष्ट्रपति का काफिला जैसे ही बड़दांड में पहुंचा वह अपने वाहन से उतर गई. बड़दांड में रास्ते के किनारे खड़े स्कूली बच्चों के साथ कुछ पल गुजारा,  उनके साथ चर्चा की.

ओडिशा के मयरूभंज की रहने वाली हैं राष्ट्रपति

बता दें कि राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ओडिशा की ही रहने वाली हैं. मयूरभंज जिले के बैदापोसी गांव में उनका जन्म हुआ था. वह आदिवासी संथाल परिवार से ताल्लुक रखती हैं. मुर्मू ने एक टीचर के रूप में अपने करियर की शुरुआत की और फिर उन्होंने ओडिशा के सिंचाई विभाग में एक कनिष्ठ सहायक यानी क्लर्क के पद पर भी नौकरी की. मुर्मू ने नौकरी से मिलने वाले वेतन से घर खर्च चलाया और बेटी इति मुर्मू को पढ़ाया-लिखाया.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.