Skip to main content

मेघालय के सीएम ने समान नागरिक संहिता का विरोध करते हुए कहा कि..

Posted on January 9, 2023 - 5:21 pm by

मेघालय के सीएम कोनराड संगमा ने आदिवासी-बहुल पूर्वोत्तर राज्य में विधानसभा चुनाव से पहले समान नागरिक संहिता (UCC) का विरोध किया है. कॉनराड का यह कदम उसके सहयोगी संगठन बीजेपी के खिलाफ है. समान नागरिकता संहिता पर कोनरॉड ने कहा कि धार्मिक समुदायों को खत्म करने पर जोर देती है.

सीएम ने कहा कि एक राजनीतिक दल के रूप में  हम बहुत स्पष्ट हैं कि यूसीसी एक ऐसी चीज है जिसे एनपीपी द्वारा स्वीकार नहीं किया जा सकता है. इसका क्षेत्र में जनजातीय लोगों की संस्कृति और जीवन के तरीके पर नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा.  विशेष रूप से मेघालय जैसे मातृसत्तात्मक समाज में नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा.

मेघालय में UCC एक बड़ा मुद्दा बन सकता है. जो कि दो महीने विधानसभा चुनाव होने है. मेघालय के सीएम कोनराड संगमा संसद में UCC विधेयक की अपनी आलोचना पर सतर्क थे. हाल ही में राजस्थान से सांसद किरोड़ी लाल मीणा ने निजी विधेयक के तौर पर पेश किया था.

मेघालय की संस्कृति में पड़ेगा नकारात्मक प्रभाव

सीएम ने आगे कहा कि कुछ ऐसे क्षेत्र हो सकते हैं जहां केंद्र चाहता है कि कुछ चीजें की जाएं.  इसकी कुछ चिंताएं हो सकती हैं जिनसे हम अच्छी तरह वाकिफ नहीं हैं. लेकिन इससे जो कुछ भी होता है वह मेघालय के लोगों की संस्कृति और जीवन के तरीके को प्रभावित नहीं करना चाहिए.

मेघालय के मातृसत्तात्मक जनजातीय समाज पर कोड के प्रभाव के बारे में अपने डर को व्यक्त करते हुए संगमा ने कहा कि  जहां सबसे छोटी बेटी को संपत्ति विरासत में मिलती है, यूसीसी बताएगी कि बच्चों को संपत्ति कैसे हस्तांतरित की जाए. इसलिए अगर यूसीसी कहता है कि उसे बड़े बेटे के पास जाना है जैसा कि देश के अन्य हिस्सों में किया जाता है, तो यह हमारे राज्य की संस्कृति के लिए अच्छा नहीं होगा.

कुछ चीजों को हम राज्य के रूप में स्वीकार नहीं कर सकते

सीएम ने कहा कि ऐसी स्थितियों पर विस्तार से चर्चा करने की जरूरत है. हम वास्तविक बिल देखे बिना अभी कुछ नहीं कह सकते. लेकिन यूसीसी की अवधारणा का मतलब है कि यह सभी के लिए एक समान होगा और यह मेघालय की सांस्कृतिक प्रथाओं को बदल सकता है. तो यह कुछ ऐसा है जिसे हम एक राज्य के रूप में, एक पार्टी के रूप में स्वीकार नहीं कर सकते.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.