Skip to main content

क्यों चर्चा में हैं आदिवासी प्लेबैक सिंगर नंजियम्मा?

Posted on September 29, 2022 - 11:28 am by

विजय उरांव

आदिवासी भाषाएं बिना किसी लिपि के सदियों से जीवित रहती आयी है, किंतु वर्तमान बाजार की व्यवस्था में बिना बाजार में प्रवेश किए जीवित रखना संभव प्रतित नही होता है। केरल की आदिवासी समुदाय (PVTG Group) से संबंध रखने वाली मलयालम पार्श्वगायिका नन्जियम्मा भी आधुनिक यंत्रो के साथ बचाने का कोशिश कर रही है।

नन्जियम्मा का जन्म केरल के पलक्कड़ जिले के अट्टापदी गांव में 1 जनवरी 1958 को इरूलर आदिवासी परिवार में हुआ था, नन्जियम्मा आज़ाद कला समिति की लोक गायिका है, जिसका नेतृत्व अट्टापदी के आदिवासी कलाकार पज़ानी स्वामी करते है। नन्जियम्मा ने विजु मेनन की फिल्म नायक में सास की भूमिका निभाई थी। नन्जियम्मा को मलयालम फिल्म “अय्यप्पानुम कोशियम” 2020 के लिए 68वें नेशनल फिल्म अवार्ड समारोह में “कलक्कथा” गीत के लिए नेशनल फिल्म अवार्ड फॉर बेस्ट फिमेल प्लेबैक सिंगर का अवार्ड मिला था तथा केरल स्टेट फिल्म अवार्ड में स्पेशल ज्युरी अवार्ड भी दिया गया था। वह खेतीबारी और मवेशी चराकर अपना गुजारा करती है। उनके ज्यादातर गीत आदिवासी पुरखा गीत (लोकगीत) है। जो पीढ़ी दर पीढ़ी से चलती आ रही है। उन्होंने पहली बार सिंधु साजन द्वारा निर्देशित डॉक्युमेंट्री में अग्गेदू नयागा के लिए मातृभूमि (Mathrumojhi) गाया था।

नन्जियम्मा ने केरल सरकार के लिए आवास कार्यक्रम लाईफ मिशन के लिए प्रचार गीत गाया था और यह पहली बार था जब केरल में जनसंपर्क कार्यक्रम के लिए किसी आदिवासी भाषा (इरुलर भाषा) का प्रयोग किया गया था। नन्जियम्मा ने फिल्म Mmmmm के लिए पाथिले नेरूंकी मोलु (Paathyile Nerunki mollu), फिल्म वावा ( Vava) के लिए वेली वा (Veli Vaa), 2022 में चेक्कन (chekkan) के लिए अथुक्कु अंथा(Athukku Antha), स्टेशन 5 के लिए “धक्का धक्का”, 2020 में अय्याप्पानुम कोशियम के लिए अधाकच्को(Adakachakko) प्रोमों गीत, कलक्कथा तथा थालम पोयी गायी थी जिसका कंपोज जेक्स बिजोय(Jakes Bejoy) ने किया था। वहीं 2015 में फिल्म वेलुता रात्रिकाल के लिए हे वन्नती, मल्लिके, मुट्टोलम मुंडुडुथा, हे करादी आदि गायी थी। इसके अलावा नन्जियम्मा ने कई फिल्मों और टेलिविजन में अभिनय कर चुकी है।

No Comments yet!

Your Email address will not be published.