Skip to main content

छत्तीसगढ़ के प्रमुख आदिवासी नेता सोहन पोटाई का निधन

Posted on March 9, 2023 - 5:02 pm by

भाजपा के पूर्व सांसद और छत्तीसगढ़ सर्व आदिवासी समाज के अध्यक्ष सोहन पोटाई का 9 मार्च को निधन हो गया. छत्तीसगढ़ में बस्तर क्षेत्र के प्रमुख आदिवासी नेता सोहन पोटाई भाजपा के टिकट पर कांकेर लोकसभा सीट से चार बार 1998, 1999, 2004 और 2009 में सांसद चुने गए थे.

गोंडवाना गोंड महासभा के प्रदेस अध्यक्ष और पोटाई के करीबी अकबर राम कोर्राम के अनुसार 65 वर्षीय सोहन पोटाई पिछले छह-सात महीनों से गले संबंधित बीमारी से पीड़ीत थे. उन्होंने छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से लगभग 150 किलोमीटर दूर कांकेर शहर स्थित अपने निवास में सुबह 10 बजे अंतिम सांस ली.

कोर्राम ने बताया कि पोटाई को एम्स रायपुर ने मंगलवार को छुट्टी दे दी थी. इसके बाद वह अपने घर पर ही थे. उन्होंने बताया कि पोटाई के पार्थिव शरीर को कांकेर जिले में उनके पैतृक गांव बाबू डाबेना ले जाया जाएगा, जहां उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा.

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पोटाई के निधन को अपूरणीय राजनीतिक और सामाजिक क्षति बताया है.

वहीं पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह और भाजपा के वरिष्ठ विधायक धरमलाल कौशिक ने पोटाई के निधन पर दुख जाताया और उनके परिवारों के सदस्यों के प्रति संवेदना व्यक्त की है.

कौन है सोहन पोटाई

 पोटाई आदिवासी हित के लिए सदैव संघर्ष करते रहे. उन्होंने इसी वजह से अपनी मूल पार्टी भाजपा से इस्तीफ़ा दे दिया था. हालांकि, आपातकाल के दौरान सोहन पोटाई सहायक पोस्ट मास्टर की नौकरी छोड़कर भाजपा में शामिल हुए थे. पोटाई को किसी समय संघ का काफी करीबी माना जाता था. हालांकि, फिर उनकी दूरी बढ़ती गई और बाद में भाजपा से इस्तीफा दे दिया था.

 29 अप्रैल 1958 को जन्में सोहन पोटाई ने 1998 में चुनाव मैदान में कांग्रेस के कद्दावर नेता महेंद्र कर्मा को पराजित कर पहली बार भाजपा की झोली में सीट डाली। हालांकि केंद्र में सरकार गिरने और फिर से चुनाव होने के कारण एक साल ही सांसद रह सके। इसके बाद 1999 में छबिला अरविंद नेताम को पराजित किया। 2004 में सोहन पोटाई ने कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लड़ रही गंगा पोटाई ठाकुर को पराजित कर तीसरी बार जीत दर्ज की थी। फिर साल 2009 में कांग्रेस की फूलोदेवी नेताम को शिकस्त दी थी।

No Comments yet!

Your Email address will not be published.