Skip to main content

राजस्थान: आदिवासी बच्चों का हवाई जहाज में बैठने का सपना किसने पूरा किया?

Posted on October 17, 2022 - 5:30 pm by

राजस्थान के डूंगरपुर जिले की चौरासी विधानसभा क्षेत्र के बीटीपी विधायक राजकुमार रौत ने बच्चों का सपना पूरा किया. उन्होने पंचायत स्तर के स्कूल में 10वीं-12वीं कक्षा में टॉप करने वाले स्टूडेंट को फ्लाइट का सफर कराने का वादा किया था. हांलाकि ऐसी ही मुहिम उदयपुर ग्रामीण विधानसभा से विधायक फुल सिंह मीणा ने भी शुरू की हुई है. वे भी दो बार बच्चों को दिल्ली फ्लाइट से भ्रमण पर ले जा चुके हैं.

40 स्टूडेंट में 33 छात्राएं मेरिट में आयी

विधायक राज कुमार रौत ने स्टूडेंट से वादा किया था कि चौरासी विधानसभा क्षेत्र में प्रत्येक पंचायत स्तर से 10 सर्वश्रेष्ठ छात्रों को हवाई सफर से दिल्ली ले जाएंगे. चौरासी विधानसभा से ब्लॉक स्तर पर 40 स्टूडेंट का मेरिट में नाम आया. इनमें 33 लड़कियां और 7 लड़के थे. 40 स्टूडेंट के साथ 10 शिक्षक भी थे. विधायक रौत इनके साथ गए. स्टूडेंट 13 अक्टूबर को उदयपुर के डबोक एयरपोर्ट से फ्लाइट में बैठे और दिल्ली पहुंचे. 16 अक्टूबर को अंतिम दिन भ्रमण किया और अब उदयपुर के लिए निकलें. उन्होंने दिल्ली में इंटरनेशनल यूथ हॉस्टल, रेलवे म्यूजियम, जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी, कुतुब मीनार, नेशनल म्यूजियम, लाल किला, साइंस म्यूजियम, जामा मस्जिद, शांति भवन में भ्रमण किया.

सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले बच्चे गरीब घर से आते हैं: रौत

रौत ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि  आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र के राजकीय विद्यालयों में पढ़ाई करने वाले अधिकतर बच्चे गरीब घर से आते हैं और इन बच्चों को 10वीं और 12वीं पास करने के बाद आगे किस परीक्षा की तैयारी करनी हैं? क्या बनना हैं? यह मार्गदर्शन बहुत कम मिल पाता है. साथ ही हमारे यहां बहुत सी प्रतिभा है जो आईएएस, आरएएस, इंजीनियरिंग, डॉक्टर व अन्य कई क्षेत्र में जा सकते हैं लेकिन उनको अवसर नहीं मिल पाता. इस भ्रमण से बच्चों को काफी कुछ देखने को मिला है. यह मुहिम पिछली क्लास में पढ़ने वाले बच्चों में भी एक प्रेरणा का कार्य करेगी. सभी बच्चों में आगे बढ़ने की भावना बढ़ेगी और आने वाले समय में हमारे यहां से कई प्रतिभाएं निखरकर सामने आयेंगी जो पूरे डूंगरपुर जिले और आदिवासी समाज का नाम रोशन करेंगे.