Skip to main content

छह हजार आदिवासी महिलाएं बनाएंगी आईफोन, मिली ट्रेनिंग

Posted on November 17, 2022 - 10:00 am by

भारत में आईफोन बनाने की सबसे बड़ी फैक्ट्री कर्नाटक के बेंगलुरू में लग रहा है. इसमें 60 हजार लोगों के साथ 6 हजार आदिवासी महिलाएं भी आईफोन बनाएंगी. मंगलवार 15 नवंबर को केंद्रीय टेलीकॉम और इनफॉर्मेशन मिनिस्टर अश्विनी वैष्णव ने एक कार्यक्रम में यह जानकारी दी. उन्होने बताया कि भारत में आईफोन की मैन्युफैक्चरिंग के लिए एप्पल बेंगलुरू में होसुर के पास अपनी बड़ी फैक्ट्री लगा रही है.

इस फैक्ट्री में करीब 60 हजार लोग काम करेंगे. वैष्णव ने आदिवासी गौरव दिवस समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि इस फैक्ट्री में रांची और हजारीबाग के आसपास रहने वाली 6 हजार आदिवासी भी काम करेंगे. जिन्हे आईपोन बनाने की ट्रेनिंग दी गई है.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि अब एप्पल का आईफोन भारत में भी बनने लगा है और इसकी देश में सबसे बड़ी फैक्ट्री बेंगलुरू के पास होसुर में लग रही है. एक कारखाने में 60 हजार लोग काम करेंगे. खुशी इस बात की है कि आदिवासी समुदाय की हमारी बहनें भी भारत में आईफोन का निर्माण करेंगी.

उन्होने कहा कि इन 60 हजार कर्मचारियों में से 6 हजार कर्मचारी रांची और हजारीबाग के आसपास के स्थानों की हमारी आदिवासी बहनें है. आदिवासी बहनों को एप्पल आईफोन बनाने का ट्रेनिंग दिया जा चुका है.

टाटा इलेक्ट्रानिक्स को मिला है आईफोन बनाने का ठेका

एप्पल ने आईफोन फैक्ट्री को बनाने का ठेका टाटा इलेक्ट्रटनिक्स को दिया है. जिसका होसुर में एक प्लांट है. एप्पल भारत में अब तक फॉक्सकॉन, विस्ट्रॉन और पेगाट्रॉन इलेक्ट्रॉन कंपनियों से अपने आपोन बनवाती है.

केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव ने यह जानकारी ऐसे समय में दी है. जब एप्पल की सप्लायर फॉक्सकॉन भारत में अपनी उत्पादन क्षमता अगले दो सालों में 2 से 4 गुना तक बढ़ाने वाली है. रायटर्स के एक रिपोर्ट के अनुसार फॉक्सकॉन अपने कर्मचारियों की संख्या भी बढ़ाएगी.

बता दें कि चीन में आईफोन बनाने का सबसे बड़ा हब है. जो कि कोरोना के समय में काम रूकने के कारण एप्पल अन्य देशों में भी अपना कारखाना बढ़ा रही है.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.