Skip to main content

तमिलनाडु: स्कूल की मांग को लेकर आदिवासी छात्रों ने प्रदर्शन किया

Posted on November 1, 2022 - 12:00 pm by

तमिलनाडु में घने जंगल क्षेत्र के अंदर स्थित गांव के बच्चों को पलायम पंचायत संघ को स्कूल जाने के लिए 4 नदी को पार करना पड़ता है. वन मार्ग की खराब स्थिति के कारण वाहन चलाना मुश्किल हो गया है.

सोमवार को इरोड जिले के थुका नायकेन पलायम में कार्यालय खंड शिक्षा कार्यालय और वन रेंज के सामने प्रदर्शन किया गया. प्रदर्शन में ग्रामीण, छात्र तथा समाजिक कार्यकर्ता शामिल हुए. मांग में विलानकोम्बई आदिवासी गांव में एक स्थायी प्राथमिक विद्यालय तथा तमिलनाडु वन विभाग से छह किमी लंबी वन सड़क की मरम्मत शामिल है.

विरोध प्रदर्शन का आयोजन तमिलनाडु ट्राइबल पीपल एसोसिएशन और इसकी राज्य समिति के सदस्य वी.पी. गुणसेकरन, कदंबूर के. रामासामी ने किया था. इसके साथ इसमें SUDAR NGO के निदेशक एससी नटराजन ने भी भाग लिया.

प्रदर्शनकारियों ने कहा कि उरली समुदाय के 43 परिवार पीढ़ियों से गहरे जंगल के टी.एन. पलयम पंचायत संघ के कोंगारपलयम पंचायत के गांव में रहते है. गांव में स्कूल न होने की वजह से विनोबानगर पहुंचने के लिए 30 छात्रों को 8 किमी वन मार्ग में चार नदियों को पार करना पड़ता है.

उन्होंने कहा कि परिवहन सुविधाओं की कमी और खराब सड़क की स्थिति के कारण पिछले दो सप्ताह से स्कूल नहीं जा पा रहे हैं. आगे बताया कि हाल ही में हुई बारिश से जंगल की सड़क को इतना नुकसान पहुंचा है कि वाहनों का संचालन नहीं हो सकता है.

इसलिए  वे चाहते थे कि गांव में एक स्थायी सरकारी प्राथमिक विद्यालय स्थापित किया जाए. सड़क की मरम्मत होने से बच्चों को स्कूल जाने के लिए गाड़ी चल सकेगी. वे यह भी चाहते थे कि गांव में मनरेगा के तहत काम किया जाए. वाहन के माध्यम से राशन सामग्री का वितरण किया जाए. सड़क समस्या का स्थायी समाधान हो. बाद में संबंधित अधिकारियों को याचिका दायर की गई.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.