Skip to main content

तमिलनाडु: जनजातीय संघ बरगुर हिल्स में पेड़ों की कटाई के खिलाफ कार्रवाई की मांग

Posted on November 21, 2022 - 4:57 pm by

तमिलनाडु में इरोड जिले के बरगुर हिल्स में अलनाई बस्ती में 100 एकड़ से अधिक दुर्लभ पेड़ों को हटाया जा रहा है. इसको लेकर तमिलनाडु ट्राइबल पीपल एसोसिएशन ने जिला प्रशासन से तत्काल हस्तक्षेप करने की मांग की है. जिससे इन प्राकृतिक संसाधनों की रक्षा करने हो सके.

पेड़ो को हटाकर समतल किया जा रहा है

वी.पी. एसोसिएशन के स्टेट कमेटी सदस्य गुनसेकरन ने इरोड कलेक्टर को पत्र लिखा है. पत्र में कहा है कि सरकारी पोरम्बोक भूमि और सशर्त पट्टे पर व्यक्तियों को दी गई भूमि पर बेंज़ोइन के पेड़ बड़ी संख्या में मौजूद थे.  पत्र में लिखा गया है कि लेकिन पिछले दो हफ्तों में  अर्थमूवर का उपयोग करके पेड़ों को हटा दिया गया है. भूमि को समतल किया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि इन संसाधनों को नष्ट करने में शामिल व्यक्तियों का पता नहीं है. जबकि उनका उद्देश्य, संभवतः लक्जरी रिसॉर्ट बनाने या खेती के लिए भी स्पष्ट नहीं है. यह वन संसाधनों को नष्ट करने की एक सुनियोजित गतिविधि है. पत्र में जानना चाहा गया है कि क्या किसी विभाग ने इसके लिए अनुमति दी है.

जमीन हड़पने के कारण आदिवासी भूमिहीन हो गए है  

गुनासेकरन ने आरोप लगाया कि जनजातीय लोगों की भूमि पहले से ही मैदानी इलाकों के लोगों द्वारा हड़प ली जा रही है.  जिससे जनजातीय समुदाय के सदस्य भूमिहीन हो गए हैं.

पत्र में कहा गया है कि पहाड़ी क्षेत्रों में 1,000 फीट से अधिक के लिए नकद फसलें और बोरवेल की खुदाई जंगली जानवरों और जंगल के लिए बड़ी आपदा बन रही है.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.