Skip to main content

तेलंगाना: पुलिस का मुखबिर होने पर माओंवादियों ने आदिवासी की हत्या कर दी

Posted on November 11, 2022 - 10:54 am by

तेलंगाना के मुलुगु जिले में वेंकटपुरम मंडल के कोंडापुर गांव से हत्या का मामला सामने आया है. जिसमें नक्सलियों ने एक आदिवासी व्यक्ति की कथित तौर पर पुलिस का मुखबिर बता हत्या कर दी. घटना बुधवार के देर रात की है. मृतक की पहचान कोंडापुर गांव निवासी सुबका गोपाल (55) के रूप में हुई है. वह गोटी कोया जनजाति के हैं.

क्या है पूरा मामला

सूत्रों के मुताबिक  कुल पांच भाकपा माओवादी बुधवार की देर रात गोपाल के घर में घुसे. इसके बाद उन्हें घसीटकर बाहर निकाला गया. परिवार के सदस्यों ने माओवादियों से उसे छोड़ने का अनुरोध किया. लेकिन माओवादी नेता ने परिवार वालों के सामने ही गोपाल पर चाकुओं और कुल्हाड़ी से वार कर दिया. माओवादियों ने उसे खून से लथपथ मृत छोड़ दिया.

Subaka Gopal

माओवादियों ने छोड़ा पत्र

भाकपा (माओवादी) वेंकटपुरम-वजीदु क्षेत्र समिति का एक पत्र मौके पर छोड़ा था. पत्र में कहा गया है कि मृतक पुलिस मुखबिर के रूप में काम कर रहा है और इसलिए उसे दंडित किया गया. पत्र में जनता को आगाह भी किया गया है कि पुलिस द्वारा दिए जाने वाले पैसे के लालच में पुलिस मुखबिर न बनें.

इससे पहले 19 अक्टूबर 2022 को  तेलंगाना राज्य के पुलिस महानिदेशक (DGP) एम महेंद्र रेड्डी ने वेंकटपुरम का दौरा किया था. मुलुगु जिले में वन क्षेत्र वेंकटपुरम पुलिस स्टेशन में वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों भद्राद्री कोठागुडेम, मुलुगु, जयशंकर भूपालपल्ली और महबूबाबाद जिले के पुलिस अधिकारियों की एक उच्च स्तरीय बैठक की.

जनप्रतिनिधियों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है

वेंकटपुरम सर्कल-इंस्पेक्टर (सीआई) के शिव प्रसाद ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि मामला दर्ज किया जा रहा है और जांच की जा रही है. घटना के बाद पुलिस ने गुरुवार को मुलुगु जिले में जनप्रतिनिधियों की सुरक्षा कड़ी कर दी.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.