Skip to main content

गुजरात चुनाव: आदिवासी नेता छोटू वसावा नहीं लड़ेंगे चुनाव, बेटे के लिए छोड़ी पारंपरिक सीट

Posted on November 10, 2022 - 5:56 pm by

भारतीय ट्राइबल पार्टी (बीटीपी) के संस्थापक छोटू वसावा आगामी गुजरात विधानसभा चुनाव में अपनी पारंपरिक विधानसभा सीट झगड़िया से चुनाव नहीं लड़ेंगे. वसावा की जगह उनके बेटे महेश वसावा झगड़िया से चुनाव लड़ेंगे. वसावा ने भरूच जिले के झगड़िया से लगातार सात बार जीत हासिल की है.

वर्ष 2017 में 2 सीटें जीती थी

महेश ने 2017 के विधानसभा चुनाव में नर्मदा जिले के डेडियापाड़ा से जीत हासिल की थी. इससे पहले, वह 2002 में उसी सीट से विजयी हुए थे. वर्ष 2002 में बीटीपी का गठन नहीं हुआ था. वरिष्ठ वसावा पहले जनता दल (यूनाइटेड) के साथ थे.

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) शासित गुजरात के आदिवासी बहुल इलाकों में बीटीपी का काफी प्रभाव है. वर्ष 2017 में उसने दो विधानसभा सीटें जीतीं.  जब उसने कांग्रेस के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ा था. हालांकि बाद में बीटीपी ने कांग्रेस से नाता तोड़ लिया.

इस साल की शुरुआत में, बीटीपी ने अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी (आप) के साथ एक अल्पकालिक गठबंधन में प्रवेश किया.

स्वास्थ्य कारणों से नहीं लड़ेगे चुनाव

पार्टी के अनुसार 75 वर्षीय वरिष्ठ वसावा के खराब स्वास्थ्य के कारण इस बार चुनाव लड़ने की संभावना नहीं है. देडियापाड़ा से बीटीपी ने बीटीपी सदस्य बहादुरसिंह वसावा को मैदान में उतारा है. अन्य उम्मीदवार रवजीभाई पंडोर (खेड़ब्रह्मा), नरेंद्र रथवा (पविजेटपुर), नितिन वसावा (नकलेश्वर) और सुभाष वसावा (मंगरोल) हैं. अंकलेश्वर को छोड़कर, अन्य सभी पांच विधानसभा सीटें अनुसूचित जनजाति (एसटी) के उम्मीदवारों के लिए आरक्षित हैं.

पार्टी ने रविवार को 12 उम्मीदवारों की पहली सूची की घोषणा की थी.  जिनमें से नौ एसटी-आरक्षित सीटों से मैदान में थे.

भिलोदा, झालोद, दाहोद, सांखेड़ा, नन्दोद, व्यारा, निजार, डांग और धरमपुर के अलावा, सभी आदिवासी उम्मीदवारों के लिए आरक्षित हैं.  पार्टी ने कर्जन, जंबुसर और ओलपाड की गैर-आरक्षित सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा की थी.

सभी आरक्षित सीटों से चुनाव लड़ेगी बीजेपी

बीटीपी के अध्यक्ष महेश वसावा ने कहा कि उनकी पार्टी एसटी उम्मीदवारों के लिए आरक्षित सभी 27 विधानसभा सीटों पर उम्मीदवार उतारेगी, उन निर्वाचन क्षेत्रों में भी चुनाव लड़ेगी. जहां आदिवासी आबादी अच्छी है.

गुजरात में 182 सदस्यीय विधानसभा है. गुजरात में दो चरणों में 1 और 5 दिसंबर को वोटिंग होगी और वोटों की गिनती 8 दिसंबर को होगी.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.