Skip to main content

गुजरात चुनाव से गायब हुई आदिवासी पार्टी बीटीपी

Posted on December 8, 2022 - 2:01 pm by

गुजरात चुनाव में भारतीय जनता पार्टी जीत की ओर है. जिसमें खबर लिखे जाने तक कुल 182 सीटों में से 153 पर लीड कर रही है, इसके साथ पांच सीट परिणाम पर आ गए है. कांग्रेस पार्टी को भी एक बड़ा हार का सामना करना पड़ रहा है. आदिवासी आरक्षित सीटों की बात करे तो 27 सीटों में 24 सीटों पर बीजेपी आगे है. वहीं कांग्रेस महज दो सीटों खेड़ब्रह्मा व वासंदा पर आगे है. इसमें आम आदमी पार्टी डेडिया पाड़ा में इंटर करते हुए नजर आ रही है. आप 5 सीटों पर लीड कर रही है.

आजादी के बाद से लगातार चुनाव कांग्रेस पार्टी की पकड़ गुजरात के आदिवासी क्षेत्रों में रही है.  लेकिन इस चुनाव में बीजेपी ने कांग्रेस को आदिवासी क्षेत्रों में भी हराने का काम किया है. इसके साथ ही गुजरात की एक मात्र आदिवासी पार्टी भारतीय ट्राईबल पार्टी का भी वजूद खतरे में नजर आ रहा है.

जदयू पार्टी छोड़ने के बाद छोटू भी वसावा ने 2017 में ट्राइबल आधारित पार्टी का निर्माम किया था. छोटूभाई वसावा 1990 से झगड़िया सीट से जीतते आ रहे थे. वर्ष 2017 में गुजरात से एक व राजस्थान में दो सीट मिले थे. 2022 के विस चुनाव में खबर आ रही थी कि छोटूभाई वसावा चुनाव नहीं लड़ेगे. क्योंकि झगड़िया सीट में उसके पुत्र चुनाव लड़ रहे थे. लेकिन ठीक चुनाव से पहले छोटूभाई वसावा ने चुनाव के लिए नामांकन किया था. इस समय झगड़िया में भाजपा के रितेशकुमार रमनभाई वसावा आगे हैं. वहीं स्वतंत्र सीट पर लड़ रहे छोटूभाई वसावा दूसरे नंबर पर हैं.

बता दें छह बार से अधिक चुनाव जीत चुके छोटूभाई वसावा गुजरात में आदिवासियों के बड़े नेता माने जाते हैं.  

No Comments yet!

Your Email address will not be published.