Skip to main content

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस के राज में आदिवासी महिलाएं असुरक्षित : स्मृति ईरानी

Posted on November 12, 2022 - 11:08 am by

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस के राज में आदिवासी महिलाएं सुरक्षित नहीं है. इस समुदाय के 16 लाख परिवारों से उनका आवास छीन लिया गया. आदिवासी समुदाय के विकास के लिए भाजपा हमेशा से तत्पर रही है. संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार के कार्यकाल में आदिवासी विकास के लिए मात्र 22 हजार करोड़ रूपये पूरे देश का बजट होता था. वहीं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार ने 60 हजार करोड़ रुपयों का प्रावधान किया है. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता एवं केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने 11 नवंबर को नेहरू चौक में आयोजित जनसभा पर छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार पर निशाना साधते हुए कहा.

स्मृति ईरानी ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पर तंज कसते हुए कहा कि उनकी सरकार को जनता की भलाई के बजाय जनता की तिजोरी लूटने में रूचि है. उन्होंने आरोप लगाया कि इस सरकार का रिमोट सोनिया नहीं बल्कि सौम्या के हाथ में है. जिनके परिसरों में हाल में आयकर और प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों ने तलाशी ली है. बघेल प्रशासनिक अधिकारियों के साथ मिलकर जनता की तिजोरी को लूट रहे हैं. कांग्रेस की तिजोरी को भर रहे हैं.

स्मृति ईरानी ने आगे कहा कि छत्तीसगढ़ की माताओं-बहनों ने आज राज्य की भूपेश सरकार के खिलाफ आवाज उठाई है, हुंकार भरी है. महतारी हुंकार रैली के जरिए उन्होंने बता दिया कि आम महिलाओं की ताक़त क्या है.

इससे पहले श्रीमती ईरानी दोपहर को भाजपा महिला मोर्चा की ‘महतारी हुंकार’ रैली में शामिल हुई. रैली शहर के जगमल चौक के समीप पटेल मैदान से आरम्भ हुई जो शहर के मुख्य मार्ग से होते हुए नेहरू चौक में जनसभा में तब्दील हो गयी. भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव, पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह, केन्द्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिंह, राज्य सभा सदस्य सरोज पाण्डेय और भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष शालिनी राजपूत ने भी सभा को संबोधित किया. इस मौके पर रायपुर के कद्दावर भाजपा नेता बृजमोहन अग्रवाल, पूर्व मंत्री बिलासपुर के अमर अग्रवाल,  पूर्व विधानसभा अध्यक्ष धरमलाल कौशिक समेत बहुत से नेता और कार्यकर्ता मौजूद रहे.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.