Skip to main content

आदिवासियों को बढ़ाने का दावा, जनजाति आयोग में आधे से अधिक पद खाली

Posted on February 20, 2023 - 11:18 am by
संसद में आदिवासी विशेष

विजय उरांव, ट्राइबल खबर के लिए

केंद्र सरकार आए दिन आदिवासियों को आगे बढ़ाना का दावा कर रही है. कभी बजट में अब तक सबसे अधिक पैसे देने की बात सामने आती है तो कभी इसके लिए आदि महोत्सव जैसे कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं. लेकिन आदिवासियों के लिए काम कर रहे राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग (एनसीएसटी) में ग्रुप सी एवं डी के 70 पद खाली हैं.

संसद सत्र के दौरान एक सवाल के जवाब में यह बात सामने आई है. आंध्रप्रदेश के अमलापुरम लोकसभा से सांसद चिंता अनुराधा ने लोकसभा में बजट सत्र के दौरान पूछा कि एनसीएसटी में कितने पद खाली हैं? उसके खाली रहने के क्या कारण हैं और उन्हें भरने के लिए क्या कदम उठाए जा रहे हैं? आयोग की वार्षिक रिपोर्ट 2018 से लंबित है इसके क्या कारण है?

सवालों का सीधा जवाब देने के बजाय जनजातीय कार्य राज्य मंत्री विश्वेश्वर टुडु ने बताया कि जनजाति कार्य मंत्रालय और एनसीएसटी रिक्त पदों को भरने की प्रक्रिया में है. एनसीएसटी में पदोन्नति और रिक्त पदों को भरना एक लगातार चलनेवाली प्रक्रिया है. मंत्रालय और एनसीएसटी रिक्त पदों को प्राथमिकता के आधार पर भरने के लिए लगातार प्रयास कर रहे हैं.

उन्होंने यह भी बताया कि 31 जनवरी 2023 के स्थिति के अनुसार स्वीकृत कुल 124 पदों में से 54 भरे हुए हैं और 70 पद रिक्त हैं.

वार्षिक रिपोर्ट के सवाल पर विश्वेश्वर टुडू ने बताया कि राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग की 9वीं, 10वीं और 11वीं तीनों वार्षिक रिपोर्ट वर्ष 2018 से संसद के समक्ष रखी जा चुकी है.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.