Skip to main content

आदिवासी जो बिना बिजली के कर रहे रोशनी की आपूर्ति, कैसे?

Posted on February 8, 2023 - 5:24 pm by

नेहा बेदिया, ट्राइबल खबर के लिए

दक्षिण अमेरिका के उत्तरी छोर में एक ऐसा इलाका है जहां के आदिवासी लोग बिना बिजली के रात के अंधेरे में भी रोशनी के साथ गुजारा करते हैं. रोशनी के लिए वे लोग अब ना तो केरोसीन या अन्य कोई तेल वाली लैंप जला रहे हैं और ना ही वे मोमबत्ती का इस्तेमाल कर रहे हैं. उनके पास बैटरी या सोलर पावर्ड वाली कोई लाइट डिवाइस भी नहीं है तो आखिर यह रोशनी मिलती किससे है?

दरअसल, दक्षिण अमेरिका के गुजीरा पेनिनसुला के वायू आदिवासी लकड़ी से बने एक लाइट डिवाइस का इस्तेमाल करते हैं जो पानी से जलता है. जी हां आपने बिल्कुल सही सुना. गुजीरा के लोग इस वाटरलाइट का इस्तेमाल कर रोशनी की आपूर्ति करते हैं जो केवल दो कप समुद्र के पानी से करीब 45 दिन तक जलता है.

इस प्रकार काम करता है वाटरलाइट

पानी से जलने वाले इस वाटरलाइट के बारे में सुनने पर यह सवाल आना आम है कि यह काम कैसे करता होगा? इसके मेकैनिजम की बात करें तो यह केमिकल रिएक्शन पर आधारित है. डिवाइस को बनाया ही इस प्रकार से है कि इसमें मौजूद मैग्नेशियम समुद्र के खारे पाने से रिएक्ट करता है. जिससे इलेक्ट्रिसिटी जेनेरेट होती है और रोशनी प्रदान करती है.

पूरी तरह हो सकता है रीसाइकल

इस आधुनिक यंत्र को वंडरमैन थॉमसन कोलंबिया (Wunderman Thompson Columbia) ने जो कि एक रचनात्मक संस्था है, ई-डीना (E-Dina) के साथ मिलकर बनाया है. यह यंत्र 2-3 सालों तक इसके उपयोग के आधार पर आसानी से चल सकता है. बता दें कि इस यंत्र को पूरी तरह रीसाइकल भी किया जा सकता है. इसके अलावा इसमें एक यूएसबी पोर्ट भी दिया गया है जिससे मोबाइल फोन भी चार्ज किया जा सकता है. बता दें कि इस लाइट को ई-डीना लाइट भी कहते हैं.

बिजली की समस्या का हो रहा निदान

ई-डीना का प्रयास ही था कि बिना बिजली वाले इलाके में इस तरह के लंबे समय तक चल सकने वाला यंत्र बनाया जाए. साथ ही इस यंत्र को ऐसा बनाया भी गया जिससे की गुजीरा के वायू आदिवासी रोशनी की आपूर्ति समुद्र के पानी से कर सकते हैं, जो उनके पास प्रचुर मात्रा में है.

इस वाटरलाइट यंत्र के आविष्कार से वायू आदिवासियों को बिजली की कमी से हो रहे समस्याओं के निदान के लिए बहुत उपयोगी साबित हो रहा है. इससे वे लोग रात में भी मछली पकड़ने, कारीगरी करने, बच्चों के पढ़ने, खाना बनाने आदि कामों को आसानी से कर पा रहे हैं.    

No Comments yet!

Your Email address will not be published.