Skip to main content

कूनो नेशनल पार्क: चीतों की निगरानी के लिए आदिवासियों को किया जाएगा शामिल

Posted on April 6, 2023 - 3:36 pm by

मध्यप्रदेश के श्योपुर जिले के कूनो नेशनल पार्क में जंगली चीतों की निगरानी के लिए बड़ी संख्या में प्रशिक्षित लोगों की आवश्यकता है. इसको लेकर कूनो नेशनल पार्क के अधिकारियों ने आस-पास के युवाओं को किराए पर लेने के उद्देश्य से प्रशिक्षित करने का निर्णय लिया है.

युवाओं को चीतों के व्यवहार के बारे में बताया जाएगा और प्रशिक्षित किया जाएगा कि चीतों की गतिविधियों की निगरानी में अधिकारियों अधिकारियों की कैसे मदद की जाए. उन्हें कलेक्टर गाइडलाइन के अनुसार मजदूरी प्रदान की जाएगी. यह मजदूरी प्रति माह 9 हजार से अधिक होगी. नौकरी के लिए विशेष रूप से सहरिया जनजाति के आदिवासी युवाओं को शामिल करने का प्रयास किया रहा है.

श्योपुर जिला वन अधिकारी प्रकाश कुमार वर्मा ने कहा कि प्रशिक्षण के दौरान स्थानीय युवाओं को चीतों के व्यवहार के बारे में बुनियादी प्रशिक्षण दिया जाएगा. उनसे निगरानी कार्य में उनकी मदद ली जाएगी.

उन्होंने कहा कि इस उद्देश्य के लिए स्थानीय युवाओं को लगाया जाएगा. निगरानी उपकरणों को संभालने के लिए उन्हें बुनियादी जानकारी प्रदान की जाएगी. एक चीते की निगरानी के लिए एक जीप चालक सहित कम से कम तीन व्यक्तियों की आवश्यकता होती है.

इनमें से कुछ का प्रशिक्षण चल रहा है. उन्हें निगरानी दल के साथ समन्वय करने और चीतों की निगरानी के लिए अपनाए जाने वाले कदमों का प्रशिक्षण दिया जा रहा है.

कूनो के अधिकारियों ने कम से कम 100 युवाओं को नौकरी देने का लक्ष्य रखा है. इनमें करीब 50 युवकों की संविदा हो चुकी है. बाकी 50 युवाओं को जल्द ही नौकरी पर रखा जाएगा.

वर्तमान में, कूनो पार्क में कम से कम 100 फीसदी वन विभाग के कर्मचारी और अधिकारी हैं, लेकिन अधिक की आवश्यकता है. वर्तमान में चार चीते जंगल में हैं और वे अक्सर कूनो राष्ट्रीय उद्यान में आते-जाते रहते हैं, जिससे उन पर नज़र रखना चुनौतीपूर्ण हो जाता है.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.