Skip to main content

ट्वीटर पर क्यों ट्रेंड कर रहा है SC/ST एक्ट? जानिए पूरी बात

Posted on January 12, 2023 - 2:08 pm by

पिछले दो दिनों से ट्वीटर पर SC/ST एक्ट ट्रेड कर रहा है, ट्रेड में कहा जा रहा है कि SC/ST Act दलित और आदिवासियों के अधिकार है. यह इसलिए क्योंकि 1955 में बने नागरिक अधिकार संरक्षण कानून बनने के बाद भी दलित और आदिवासियों से होने वाले छुआछुत और जातिगत अत्याचार में कोई कमी नहीं आ रही थी. इसलिए एक ऐसे कठोर कानून की आवश्यकता थी. इसी के कारण वर्ष 1989 में SC/ST एक्ट कानून को संसद के द्वारा लाया गया.

एससी एसटी एक्ट के समर्थन में है ट्रेंड

दरअसल 8 जनवरी को मध्यप्रदेश के भोपाल में स्थित जंबूरी मैदान में करणी सेना के द्वारा 22 सूत्री मांगों को लेकर एक सभा का आयोजन किया गया था. जिसमें आरक्षण हटाने और SC/ST एक्ट को खत्म करने की मांग भी शामिल थे. इसके ही विरोध में जनता की आवाज ट्वीटर आईडी के द्वारा 11 जनवरी को ट्वीटर पोस्ट किया गया था जिसमें #SC_ST_ACT_हमारा अधिकार के हैसटेग ट्रेड करवाने की बात कही गई थी. एससी एसटी एक्ट के समर्थन में देशभर से अब तक 50 हजार से अधिक लोगों ने ट्वीट किया है.

जनता की आवाज ट्वीटर यूजर लिखते हैं कि अपने हक के लिए आवाज उठाना गलत नहीं है. जो लोग अपने हक मारे जाने के बावजूद चुप रहते हैं, वो गलत लोगों को प्रोत्साहित करते हैं और अपने अपने आप को शोषित होने का रास्ता बना देते हैं.

जाति से मिला भेदभाव नहीं दिखता – ट्राइबल आर्मी

वहीं इसी हैसटैग को प्रयोग करते हुए ट्राइबल आर्मी के हंसराज मीणा लिखते हैं कि जातीय प्रताड़ना से निवारण के लिए मिला हुआ “एससी-एसटी एक्ट” सबको दिखाई देता है, लेकिन ‘जाति’ से मिला ‘शोषण’, ‘भेदभाव’, और ‘अत्याचार’ किसी को नहीं दिखता.

No Comments yet!

Your Email address will not be published.